breaking news New

शासकीय विद्यालय में मशरूम उत्पादन तकनीकी प्रशिक्षण

शासकीय  विद्यालय में मशरूम उत्पादन तकनीकी प्रशिक्षण

अंबागढ़ चौकी-: शासकीय बालक उच्च माध्यमिक विद्यालय अंबागढ़ चौकी में आज मशरूम उत्पादन तकनीकी प्रशिक्षण किया गया, जिसमें मशरूम उत्पादन तकनीकी का सफल प्रयोग हुआ, 11वीं व 12वीं कृषि संकाय के छात्रों द्वारा यह प्रयोग प्रशिक्षण किया गया, जिसमें काफी संख्या में कृषि संकाय के छात्र उपस्थित थे।

शाला के शिक्षक डॉ. योगेंद्र श्रीवास व्याख्याता कृषि के मार्गदर्शन में आज गुरुवार को शासकीय बालक उच्च माध्यमिक विद्यालय अंबागढ़ चौकी में कृषि संकाय के छात्रों को मशरूम उत्पादन तकनीकी का प्रयोग कराया गया, जिसमें छात्रों द्वारा यह प्रयोग किया गया, इस मशरूम उत्पादन में लगभग एक से डेढ़ माह मशरूम निकलने में लग जाता है श्री श्रीवास ने कहा कि यह स्वरोजगार संसाधन है इसमें छात्रों को मशरूम की तकनीकी जानकारियां बताते हुए उनको रोजगार का एक साधन भी बताया इसमें मध्यान भोजन स्व सहायता समूह सांगली की महिलाओं ने भी रुचि दिखाते हुए अपनी सहभागिता निभाई।

0 एक डेढ़ माह में मशरूम का होता है उत्पादन- श्रीवास

विद्यालय के कृषि संकाय के शिक्षक डॉ योगेंद्र श्रीवास ने बताया कि मशरूम उत्पादन की पैदावार के लिए फंगस के रूप में मशरूम के बीज को एक पॉलिथीन में पैरा के चारों तरफ बीज डाल कर इस को न्यूनतम तापमान में रखा जाता है जिसके कारण वहां लगभग डेढ़ माह के भीतर उसमें मशरूम की पैदावार होती है यह एक रोजगार का बड़ा साधन है, कार्यक्रम को सफल बनाने में प्राचार्य अखिलेश कुमार लाल, रमेश कुमार शर्मा, डॉ योगेंद्र श्रीवास, मदन लाल यादव, अमन डोंगरे सहित कृषि संकाय के छात्र व महिला समूह उपस्थित थे।