कांग्रेस ने कहा -देश का संसदीय लोकतंत्र शर्मशार : हरिवंश ने किया सदन की भावनाओं का दमन

कांग्रेस ने कहा -देश का संसदीय लोकतंत्र शर्मशार : हरिवंश ने किया सदन की भावनाओं का दमन

नयी दिल्ली।   कांग्रेस ने कहा है कि राज्यसभा में भारतीय जनता पार्टी ने जिस तरह का व्यवहार किया है उससे देश का संसदीय लोकतंत्र शर्मशार हुआ है और उपसभापति हरिवंश नारायण सिहं ने सदस्यों की भावनाओं का दमन कर सदन की कार्यवाही को अंजाम दिया है।

कांग्रेस महासचिव के सी वेणुगोपाल ने देर रात यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सरकार किसान संबंधी विधेयक पर कांग्रेस सहित किसी विपक्षी दल, किसानों और अन्य संबद्ध नेताओं की बात सुनने को तैयार नहीं है। उन्होंने कहा कि उप सभापति की जिम्मेदारी थी कि वह सदन की भावनाओं का ध्यान रखते और कहते कि सदस्यों की भावनाओं को देखते हुए मंत्री इस बारे में कल जवाब दे सकते हैं।

उन्होंने कहा कि राज्यसभा के उपसभापति को बताना चाहिए कि उन्होंने संविधान के खिलाफ काम क्यों किया है। कांग्रेस ने जब मतविभाजन मांगा था तो उसे उसके इस अधिकार से वंचित क्यों किया गया। उन्होंने इसे सदस्यों के मौलिक अधिकारों का उल्लंघन बतरसर और कहा कि सरकार ने उनके अधिकारों को नकारा है। उनका कहना था कि सउनक की कार्यवाही के दौरान भाजपा के नेता उपसभापति के पास जा रहे थे तथा साजिश कर रहे थे और उनका यह आचरण संसदीय लोकतंत्र की हत्या है।

कांग्रेस नेता ने कहा कि अभी रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने प्रेस कांफ्रेंस की है और वह उपसभापति के काम को सही ठहरा रहे थे। उन्होंने इसे दुर्भागयपूर्ण स्थिति बताया कि एक वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री गलत बात कर रहे हैं और उपसभापति के काम को सही ठहराने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार कांग्रेस की आवाज दबाने का प्रयास कर रही है लेकिन वह इस काम में सफल साबित नहीं होंगे।