breaking news New

हैदराबाद से लौटे युवक की मौत के बाद आंध्र म्यूटेंट की आशंका से मचा हड़कंप

 हैदराबाद से लौटे युवक की मौत के बाद आंध्र म्यूटेंट की आशंका से मचा हड़कंप

जगदलपुर। जिले के लोहंडीगुड़ा क्षेत्र अंर्तगत ग्राम रतेंगा के डेंगगुड़ापारा निवासी 35 वर्ष के युवक की चरेंटाइन सेंटर में मौत के बाद हड़कंप मच गया है। हैदराबाद से रविवार को लौटे इस मृतक के युवक को क्वारेंटाइन किया गया था, जिसका 04 मई की तड़के मौत हो गई। लोहंडीगुड़ा बीएमओ ने टेलीफोन पर स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को इस बारे में जानकारी दी।  युवक की मौत के बाद जब उसका टेस्ट किया गया तो वह कोरोना पॉजीटिव पाया गया। स्वास्थ अधिकारियों की चिंता का सबब यह नहीं था कि मृतक कोविड पॉजीटिव है, बल्कि उसमें आंध्र म्यूटेंट के पाये जाने की आशंका ने सभी को चिंतित कर दिया है।

कोरोना की दूसरी लहर के बीच आंध्र म्यूटेंट का नया स्ट्रेन मिलने की आशंका से बस्तर में इसे लेकर चिंता बढ़ा दी है। इस वाइरस को लेकर दावा किया जा रहा हैं कि मौजूदा स्ट्रेन के मुकाबले नया वेरिएंट कई गुना ज्यादा खतरनाक है। बस्तर जिले में इस बात की पुष्टि होने में थोड़ा समय लगने की बात कही जा रही है। दरअसल सैंपल भुवनेश्वर भेजे जाते हैं, जहां जांच के बाद लैब के इंचार्ज केंद्र को और फिर केंद्र से राज्य को इस बारे में जानकारी दी जाती है। मेकाज प्रबंधन ने मृतक का सैंपल भुवनेश्वर आज भिजवाया है या नहीं, इस बारे में जानकारी नहीं मिल पाई है।

बस्तर संभाग के कमिश्नर, बस्तर आईजी, सभी कलेक्टर और एसपी को हाई अलर्ट पर रहने कहा गया है। सभी बॉर्डर सील करने के साथ ही चौकसी बढ़ाए जाने के निर्देश दिए गए हैं। मंगलवार की शाम कलेक्टोरेट में आयोजित बैठक में वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों ने राजस्व अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई है। बॉर्डर सील होने के दावों के बावजूद हैदराबाद से यह युवक संक्रमित होने के बावजूद बस्तर तक कैसे पहुंच गया, इस बात को लेकर उन्होंने नाराजगी जाहिर करते हुए तत्काल व्यवस्था दुरुस्त करने के निर्देश दिए गये हैं। ज्ञात रहे कि बस्तर में तेलंगाना और ओडि़शा से प्रवेश के लिए जो रास्ते हैं, वहां चेकपोस्ट लगाकर हर आने-जाने वालों की जांच के दावे किए जा रहे थे।