breaking news New

पुना नर्कोम अभियानन से प्रभावित नक्सली द्वारा आत्मसमर्पण

पुना नर्कोम अभियानन से प्रभावित नक्सली द्वारा आत्मसमर्पण

शासन के ‘‘पुनर्वास नीति’’ एवं जिला पुलिस द्वारा चलाये जा रहे ‘‘ पुना नर्कोंम अभियान ’’ से प्रभावित होकर बड़े स्तर के नक्सली द्वारा आत्मसमर्पण, 15 वर्षों से नक्सल संगठन में था सक्रिय,छ0ग0 शासन द्वारा 8 लाख का ईनाम था घोषित।*

सुकमा--जिला सुकमा में सुन्दरराज पी. पुलिस महानिरीक्षक, बस्तर रेंज जगदलपुर (छ.ग.) एवं योज्ञान सिंह, उप महानिरीक्षक के मार्गदर्शन एवं सुनील शर्मा पुलिस अधीक्षक सुकमा (छ.ग.) के निर्देशन पर चलाये जा रहे नक्सल उन्मूलन अभियान के तहत छत्तीसगढ़ शासन की ‘‘पुनर्वास नीति’’ एवं जिला पुलिस द्वारा चलाये जा रहे ‘‘ पुना नर्काेम अभियान ’’ के प्रचार-प्रसार से प्रभावित होकर नक्सलियों के आधारहीन विचारधारा एवं उनके शोषण, तथा बाहरी नक्सलियों द्वारा भेदभाव करने तथा प्रतिबंधित नक्सली संगठन के बड़े स्तर के 01 नक्सली द्वारा  पुलिस अधीक्षक कार्यालय में योज्ञान सिंह डीआईजी (परिचालन) सीआरपीएफ सुकमा, सुनील शर्मा पुलिस अधीक्षक सुकमा, आंजनेय वार्ष्णेय अति.पुलिस अधीक्षक नक्सल ऑप्स, ओम चंदेल अति पुलिस अधीक्षक व अन्य  अधिकारियों के समक्ष बिना हथियार के आत्मसमर्पण किया गया। उक्त आत्मसमर्पित नक्सली को छत्तीसगढ़ शासन की राहत एवं पुनर्वास नीति के तहत नियमानुसार 10,000 /- हजार प्रोत्साहन राशि प्रदान किया गया !