breaking news New

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को शिव सेना ने सौपा ज्ञापन : उद्योग नही लगने पर किसानों की जमीन की जाए वापस

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को शिव सेना ने सौपा ज्ञापन : उद्योग नही लगने पर किसानों की जमीन की जाए वापस

 रायगढ़।  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के रायगढ़ आगमन पर शिव सेना द्वारा जमीन अधिग्रहण के बाद उद्योग नही लगने पर संबंधित उद्योग प्रबंधन से किसानों की जमीन को लौहण्डीगुड़ा की तर्ज पर वापस दिलाने तथा उद्योग प्रबंधन द्वारा अपने कर्मचारियों के नाम से खरीदी गई जमीन की रजिस्ट्री को शून्य घोषित करने सहित 3 सूत्रीय मांग को लेकर ज्ञापन सौपा गया। 

 शिव सेना प्रदेश उपाध्यक्ष राजेश जैन व जिला अध्यक्ष अमित विश्वास के नेतृत्व में  प्रतिनिधि मण्डल ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को शिव सेना की ओर से तीन सूत्रीय मांगों का ज्ञापन सौपा गया। ज्ञापन के माध्यम से कहा गया कि जिले के पूर्वांचल क्षेत्र कुकुरदा, छुहिपाली में तकरीबन 10 वर्ष पूर्व जेएसडब्ल्यू द्वारा उद्योग लगाने के नाम से किसानों की जमीन का अधिग्रहण किया गया था लेकिन इसके बाद आज पर्यंत उद्योग लगाने के लिए एक ईंट भी नही लगी है।

ऐसे में किसानों को न तो रोजगार मिल पाया ओर न ही वे खेती कर पा रहे है, कुछ किसान आजीविका के लिए उद्योग द्वारा अधिग्रहित जमीन पर खेती कर भी रहे है तो उनका पंजीयन नही हो पाने की वजह से उन्हें ओने पौने दाम पर फसल बेचना पड़ रहा है। जेएसडब्ल्यू के अलावे गोदावरी एनर्जी,वीसा पावर,जिंदल इंडिया,पाटनी पावर सहित अन्य कुछ उद्योग ऐसे है जो अधिग्रहित भूमि पर उद्योग नही लगाए है।लौहण्डीगुड़ा की तर्ज पर किसानों के हित मे उद्योगों से उनकी जमीन वापस दिलवाई जाय।

इसके साथ ही  इन कंपनी द्वारा मुलाजीमो के नाम से खरीदी गई जमीन की रजिस्ट्री भी शून्य घोषित की जाय।, राजस्व बढ़ाने के नाम पर प्रदेश सरकार द्वारा वर्षो से नजूल भूमि पर काबिज लोगो से जमीन के एवज में 152 प्रतिशत राशि जमा करने का निर्णय गरीब जनता के साथ अन्याय है। नजूल जमीन पर वर्षो से काबिज गरीब परिवार को निशुल्क पट्टा दिए जाने व सब्जी उत्पादक किसानों के लिए प्रत्येक ब्लॉक मुख्यालय में पृथक से बाजार विकसित करवाया जाए। प्रतिनिधि मण्डल में शिव सेना जिला उपाध्यक्ष सनी साहू,जिला सचिव विजय लकड़ा,नगर अध्यक्ष अशोक मेश्राम व कुकुरदा निवासी महेश प्रसाद गुप्ता, हीरालाल शामिल थे।