breaking news New

संयुक्त मजदूर यूनियन एटक व इंटुक का एनएमडीसी प्रबंधन के खिलाफ प्रदर्शन

संयुक्त मजदूर यूनियन एटक व इंटुक का एनएमडीसी प्रबंधन के खिलाफ प्रदर्शन


ड्यूटी बसों को रोककर चेक पोस्ट में दोनो यूनियन के सदस्यों ने की नारेबाजी जताया विरोध, 5 अप्रैैल से एनएमडीसी की सभी परियोजनाओ में किया जाएगा टूल डाउन।

दंतेवाड़ा बैलाडीला, 5 अप्रैल। एनएमडीसी चेक पोस्ट में एस.के.एम.एस व इंटुक के सदस्यों द्वारा ड्यूटी बसों को रोककर एनएमडीसी प्रबंधन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई जिसमें एनएमडीसी प्रबंधन मुर्दाबाद ,एसपी हिमांशु होश में आओ व मजदूर एकता जिंदाबाद के जमकर नारे लगाए गए। आपको बता दे कि दोनो मजदूर यूनियन के द्वारा तकरीबन माह भर पूर्व पी.आर.बी.एम.एस देश की सर्वश्रेष्ठ मेडिकल सुविधा को बीमा कंपनी को दिए जाने का विरोध व भर्ती में स्थानीय डिप्लोमा होल्डर जिन्हें कार्य का 15 वर्षों का अनुभव है उन्हें भर्ती प्रक्रिया में प्राथमिकता देने,इसके अलावा हैदराबाद मुख्यालय में ठेका श्रमिक कर्मचारियो को बहाल किये जाने जैसे तीन प्रमुख मांगो को लेकर एनएमडीसी प्रबंधन को ज्ञापन दिए जाने के बाद एनएमडीसी प्रबंधन ने विशाखापटनम में उक्त मुद्दों के सम्बंध में सब कमेटी की मीटिंग बुलाई थी।

इस मीटिंग में प्रबंधन के प्रतिनिधियों द्वारा ये आश्वाशन दिया गया था कि उपरोक्त तीन मांगो को लेकर फेडरेशन से विस्तृत चर्चा करने के बाद ही इसे लागू किया जाएगा। एसकेएमएस सचिव टीजे शंकर राव के मुताबिक प्रबंधन ने यूनियन की मांगों को दरकिनार करते हुए वादा खिलाफी की ओर एक अप्रैल 2021 को हैदराबाद मुख्यालय से एसपी हिमांशु ने आदेश जारी कर दिया व मेडिकल सुविधा को बीमा कंपनी को देने का फरमान जारी कर दिया। कोरोना को देखते हुए प्रबंधन ने चाल चली ताकि लोग भीड़ के साथ किसी भी प्रकार का विरोध धरना प्रदर्शन नही कर सके।

प्रबंधन के उक्त रवैये के कारण दोनो मजदूर संगठनों में भारी रोष है। एनएमडीसी ने मजदूरों के साथ बहुत बड़ा विश्वासघात किया है। आज किरन्दुल में चारो श्रमिक संघो के बैठक में यह निर्णय लिया गया है कि पांच अप्रेल से एनएमडीसी की सभी परियोजनाओं में कर्मचारी टूल डाउन करेंगे व अपने- अपने विभाग में सभी कर्मचारी केवल अपनी उपस्थिति दर्ज कराएंगे व किसी प्रकार का कोई कार्य नही करेंगे। इस विरोध प्रदर्शन में एसकेएमएस व इंटक के सदस्यों की उपस्थिति रही।