डेड बॉडी से कोरोना संक्रमण फैलने की वैज्ञानिको ने की पुष्टि

 डेड बॉडी से कोरोना संक्रमण फैलने की वैज्ञानिको ने की पुष्टि


वैज्ञानिको ने  मरीज की डेड बॉडी से संक्रमण फैलने की पुष्टि कर की  है।  mirror.co.uk की रिपोर्ट के मुताबिक, जर्नल ऑफ फॉरेंसिक एंड लीगल मेडिसिन स्टडी ने कहा है कि थाईलैंड में डेड बॉडी की जांच करने वाला एक मेडिकल प्रोफेशनल कोरोना से संक्रमित हो गया। 

जर्नल ऑफ फॉरेंसिक एंड लीगल मेडिसिन स्टडी के मुताबिक, मार्च में ही डेड बॉडी के जरिए मेडिकल एग्जामिनर संक्रमित हो गए।  जर्नल में ये रिपोर्ट चीन के हैनान मेडिकल यूनिवर्सिटी के विरोज विवानिटकिट और बैंकॉक के आरवीटी मेडिकल सेंटर के वॉन श्रीविजितलई ने लिखा है। 

इससे पहले थाईलैंड के कई फ्यूनरल होम ने कोरोना वायरस से पीड़ित मरीज के अंतिम संस्कार से मना कर दिया था।  इसके बाद 25 मार्च को थाईलैंड के डिपार्टमेंट ऑफ मेडिकल सर्विसेज के प्रमुख ने दावा किया था कि डेड बॉडी से संक्रमण नहीं फैलता। 

हेल्थ एक्सपर्ट ने चेतावनी दी है कि कोरोना से संक्रमित मरीज की डेड बॉडी के संपर्क में आने वाले सभी लोगों और फ्यूनरल होम में काम करने वालों को भी पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट दिए जाएं। 

वहीं, WHO का कहना है कि कोरोना मरीज की डेड बॉडी से संक्रमण फैलने की की आशंका कम रहती है अगर मरीज के फेफड़े के संपर्क में आने से बचा जाए। 

अब तक कोरोना वायरस से दुनिया में 1,936,697 से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं. वहीं, 120,567 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। 

chandra shekhar