breaking news New

जी एन एम - बी एस सी नर्सिंग और राजस्व विभाग में पटवारी परीक्षा पेंडिंग : विभागीय मंत्री संज्ञान में लें

जी एन एम - बी एस सी नर्सिंग  और राजस्व विभाग में पटवारी परीक्षा पेंडिंग : विभागीय मंत्री संज्ञान में लें


 जिम्मेदार अधिकारियों में कोई चिंता नहीं 

रायपुर, 29 मई। राज्य कर्मचारी संघ छत्तीसगढ़ के पूर्व प्रांताध्यक्ष वीरेन्द्र नामदेव तथा प्रदेश महामंत्री अश्वनी चेलक ने आरोप लगाया है कि कोरोना वायरस के कारण जी एन एम और बी एस सी नर्सिग की परीक्षा होने में 7 से 8 माह विलम्ब हो चुका है और इसी तरह राजस्व विभाग में पटवारी परीक्षा भी प्रशिक्षण के बाद से 8 महीने से पेंडिंग है। इसे लेकर जिम्मेदार अधिकारियों को इसकी कोई चिंता नहीं है। ट्रेड छात्र -छात्राएं विभागीय मन्त्रियों और अधिकारियों से लगातार गोहार लगा रहे हैं मगर कोई सुनने वाला नहीं है। ऐसे में स्वास्थ्य एवं राजस्व विभाग के मंत्रियों को संज्ञान में लेकर इन परीक्षाओ के आयोजन हेतु जिम्मेदार अधिकारियों को तुरंत निर्देश देने के जरूरत पर बल दिया है।

जारी विज्ञप्ति में आगे बताया गया है  कि कोरोना काल मे ही वर्तमान में इंजीनियरिंग,फार्मेसी के अलावा कक्षा 12 वी बोर्ड परीक्षा भी ऑनलाइन आयोजित हो रही है जबकि बी एस सी नर्सिंग की परीक्षा माह अक्टूबर 2020 में  तथा जी एन एम्  नर्सिंग की परीक्षा फरवरी 2021 में आयोजित किये जाने का पूर्व निर्धारित कार्यक्रम था, जो कोरोना के बहाने अबतक नही हो पायी है। इसीतरह रायपुर, बिलासपुर, और राजनांदगांव के पटवारी प्रशिक्षण केंद्र में प्रशिक्षण के बाद लोग अक्टूबर 20 से परीक्षा होने के इंतजार कर रहे हैं, मगर दोनों विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों को कोई चिन्ता नही है।इसके प्रतिभागी इसे लेकर बैचेन विभाग के निर्णय का इंतजार कर रहे है और सबसे पूछते फिर रहे हैं,कब होगी। परन्तु बताने वाला कोई नही है। इसमें अनेक फ्रेस ट्रेनीज है तो साथ मे विभागीय कर्मचारियों को भी इन कोर्स में शामिल होने का अवसर दिया गया है।परीक्षा में विलम्ब होने के कारण बेरोजगार ट्रेनीज लगातार निजी एवं सरकारी क्षेत्रों में रोजगार से भी वंचित हो रहे हैं।

            जारी विज्ञप्ति सँयुक्त विज्ञप्ति में उन्होंने  स्वास्थ्य  और राजस्व विभाग के अधिकारियों को इसे संज्ञान में ले कर अन्य परीक्षा की भांति सभी नर्सिंग एवं पटवारी प्रशिक्षण पाठ्यक्रम की परीक्षा भी ऑनलाइन तुरन्त आयोजित करने की मांग की है।