breaking news New

अब विदेशों में बनेंगे कोरोना के देसी टीके….कंपनी व सरकार बना रही है योजना

अब विदेशों में बनेंगे कोरोना के देसी टीके….कंपनी व सरकार बना रही है योजना


नई दिल्ली । देश में आज से वैक्सीनेशन का तीसरा चरण शुरू होने जा रहा है, जिसके तहत 18 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को कोरोना का टीका लगाया जाएगा। लेकिन कई राज्यों ने वैक्सीन की कमी के चलते अपनी जनता से टीकाकरण केंद्र ना आने की अपील की है। बता दें कि देश में सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड और भारत बायोटेक की कोवैक्सीन का टीका लगाया जा रहा है। 

मौजूदा समय में कई राज्यों में दोनों ही वैक्सीन की कमी की शिकायतें आ रही हैं। इसलिए केंद्र सरकार और सीरम इंस्टीट्यूट के सीईओ अदार पूनावाला विदेशों में भी अपनी वैक्सीन के उत्पादन को बढ़ाने पर जोर दे रहे हैं। सरकारी सूत्रों के मुताबिक, आपूर्ति संकट को ध्यान में रखते हुए यह फैसला लिया जा रहा है। 

कंपनी सूत्रों से पता चला है कि कोरोना वायरस के नए म्यूटेशन को देखते हुए वैक्सीन की मांग को पूरा करने की आवश्यकता है। हमने विदेशों को कोवैक्सीन बनाने का ऑफर दिया है। वाणिज्यिक संस्थाओं के बीच तकनीकी ट्रांसफर के जरिए उत्पादन किया जाएगा। उन्होंने आगे बताया कि ये दूसरे स्वदेशी वैक्सीन के साथ किया जा सकता है। पिछले हफ्ते केंद्र सरकार ने सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक को 4,500 करोड़ रुपये एडवांस के तौर पर दिए थे। 20 अप्रैल को भारत बायोटेक ने एलान किया कि वो अपनी वैक्सीन का उत्पादन बढ़ाकर 700 मिलियन डोसेज सालाना कर देंगे।