breaking news New

छत्तीसगढ़ में किसान आंदोलन 15 मई से, किसान कांग्रेस संगठन ने लिया फैसला

छत्तीसगढ़ में किसान आंदोलन 15 मई से, किसान कांग्रेस संगठन ने लिया फैसला


रायपुर।  रासायनिक खाद की दरों में होने वाली वृद्धि को लेकर किसानों में भारी असंतोष है। छत्तीसगढ़ में किसान कांग्रेस संगठन ने केंद्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलने की ठान ली है। 15 मई को प्रदेश भर में किसान केंद्र सरकार के खिलाफ आंदोलन करेंगे, जो सोशल मीडिया पर विरोध के रूप में किया जायेगा। इसकी रणनीति तैयार करने के लिए किसान कांग्रेस प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक आयोजित की गई थी, जहां यह फैसला लिया गया। प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी महामंत्री चंद्रशेखर शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि- खाद की कीमत कम करने केंद्र सरकार के नाम प्रशासन को ज्ञापन सौंपेंगे और 15 मई को प्रदेश भर में कांग्रेसी सोशल मीडिया पर विरोध करेंगे। यह फैसला किसान कांग्रेस प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में लिया गया है। सभी पदाधिकारी अपने-अपने घरों में बैठकर धरना देंगे। 15 मई को तीन मुद्दों को लेकर किसान कांग्रेस धरना देगी। Also Read - Big News : छत्तीसगढ़ में एक और संक्रमण का खतरा, CM समेत सरकारी अमला सचेत, जिलों को निर्देश जारी • खाद के दाम में वृद्धि को लेकर किसान कांग्रेस देगी धरना • डीजल की कीमत कम करने की मांग को लेकर • केंद्र द्वारा छत्तीसगढ़ का 60 लाख मीट्रिक टन धान जल्द खरीदी करने की मांग को लेकर छत्तीसगढ़ के कृषि मंत्री रविंद्र चौबे ने रासायनिक उर्वरकों में, विशेषकर डीएपी के दाम में प्रति बोरी लगभग 700 रुपये की वृद्धि किए जाने पर चिंता जताई थी। उन्होंने भारत सरकार के केंद्रीय रसायन एवं उर्वरक मंत्री से किसानों के हितों की रक्षा के लिए रासायनिक उर्वरक कंपनियों की इस मनमानी और बेतहाशा मूल्य वृद्धि पर रोक लगाए जाने का आग्रह भी किया था। कृषि मंत्री ने कहा कि बीते एक साल से कोरोना महामारी के चलते आम लोगों के साथ–साथ किसान परेशान हैं। ऐसी स्थिति में डीएपी सहित अन्य रासायनिक उर्वरकों के दामों में वृद्धि के चलते किसानों पर दोहरी मार पड़ेगी और खरीफ सीजन के लिए खाद खरीदने में असहाय हो जायेंगे।