breaking news New

Breking news: आयरलैंड से जांजगीर आए 3 लोग, न क्वारंटाइन, न जांच कराई, अब 6 संक्रमित

Breking news: आयरलैंड से जांजगीर आए 3 लोग,  न क्वारंटाइन, न जांच कराई, अब 6 संक्रमित

रायपुर, 28 दिसंबर। कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन को लेकर सरकार गंभीर है। विदेशी दौरे से आने वालों पर खास नजर रखने के निर्देश हैं। बावजूद इसके विभाग और लोगों की लापरवाही जारी है। आयरलैंड से दंपति सहित 3 लोग छत्तीसगढ़ के जांजगीर पहुंचे। यहां 15 दिन रुके, शादी समारोह में भी शामिल हुए, लेकिन न तो जांच कराई, न क्वारैंटाइन हुए और न ही प्रशासन को सूचना दी। अब उनके संपर्क में आए 6 एक ही परिवार के 6 लोग संक्रमित मिले हैं।

जब तीनों जांजगीर से लौट गए तो जिला प्रशासन को इसकी सूचना मिली। इसके बाद शादी समारोह में शामिल कांटेक्ट ट्रेसिंग के आधार पर 32 लोगों के सैंपल लिए गए। इनमें संक्रमित मिले 6 लोगों को रायपुर एम्स में भर्ती कराया गया है। उनके सैंपल जांच के लिए पुणे की लैब में भेजे गए हैं। CMHO डॉक्टर एसआर बंजारे के अनुसार, आयरलैंड से आए लोगों के नागपुर में होने की सूचना है। इसके बाद वहां के प्रशासन को कार्रवाई के लिए लिखा गया है।

जानकारी के मुताबिक, आयरलैंड से तीनों 29 नवंबर को जांजगीर पहुंचे थे। उन्होंने कोविड प्रोटोकाल का पालन नहीं किया। सार्वजनिक विवाह कार्यक्रम में शामिल हुए और 12 दिसंबर तक रुके। अगले दिन नागपुर चले गए। CMHO डॉक्टर एसआर बंजारे के अनुसार तीनों जांजगीर में शादी समारोह में शामिल हुए थे। वे आयरलैंड से निकले तो उनका टेस्ट नहीं हुआ। दिल्ली और रायपुर एयरपोर्ट में जांच नहीं की गई। नागपुर कलेक्टर को चिठ्ठी लिखी है।

स्वास्थ्य विभाग की टीम ने आयरलैंड से आए लोगों के जाने के बाद वार्ड 13 में रहने वाले लोगों के सैंपल लिए। जांच में 6 लोग संक्रमित मिले। उन्हें रायपुर एम्स में भर्ती कराया गया। जबकि जिले में 11 कोविड केयर सेंटर हैं और उनमें बेड भी खाली हैं। दरअसल, इसके पीछे राज्य सरकार के निर्देश हैं। जिसमें कहा गया है कि, विदेश से लौटे लोगों के संपर्क में आए लोगों को एम्स में ही भर्ती कराया जाए। उनके सैंपल पुणे भेजे जाएं, जिससे नए संक्रमण की जांच हो सके।