breaking news New

सरकारी राशन दुकानों में मिलने वाले चावल की कर रहे दलाली,10 रुपए का चावल 16 रुपए में बेच रहे

सरकारी राशन दुकानों में मिलने वाले  चावल की कर रहे दलाली,10 रुपए का चावल 16 रुपए में बेच रहे


रायपुर। राजधानी के पंडित रविशंकर शुक्ल वार्ड में राशनकार्ड के हितग्राही सरकारी राशन दुकान से चावल खरीदकर वहीं पर खरीदार को बेचते समय पकड़े गए। खाद्य विभाग ने सरकारी राशन की दलाली करने वालों के यहां से मंगलवार को 78 क्विंटल चावल जब्त किया है।

खाद्य विभाग ने छापेमार कार्रवाई की तो दुकान संचालक के सामने ही दलाल लोगों को प्रलोभन देकर इसे खरीदते नजर आए। जिस चावल को राज्य सरकार 25 रुपये प्रति किलो में खरीदकर एपीएल कार्डधारियों को 10 रुपये प्रति किलो से बेचती है, उसमें इस तरह की कालाबाजारी सामने आई है। खाद्य विभाग की टीम ने शिकायत मिलने पर छापेमार काईवाई की तो मामले का पर्दाफाश हुआ है।खाद्य विभाग की टीम ने कलेक्टर रायपुर के निर्देश पर राजातालाब स्थित दो मकानों में छापा मार कर खाद्य विभाग ने 78 क्विंटल चावल जब्त कर कार्रवाई की है। मामले में विभाग ने छत्तीसगढ़ सार्वजनिक वितरण प्रणाली की धाराओं के उल्लंघन का प्रकरण बनाया है।

राजा तालाब के दो मकानों में मारा छापा

खाद्य विभाग की टीम ने राजातालाब के दो घरों में छापा मारा है। इनमें साजिद अली और नसीम बानो के घर की जांच की। इन दोनों के द्वारा राशनकार्ड धारकों को 16 रुपये की दर से चावल खरीदने का प्रलोभन दिया जा रहा था। साजिद अली के घर से 114 कट्टा चावल रखा पाया गया है।

वहीं, साजिद अली ने स्वीकार किया कि वो राशन दुकान से राशनकार्ड धारकों के द्वारा चावल खरीद लेने के बाद उनसे सौदा करता है और 16 रुपये किलो के दाम पर चावल खरीद लेता है। इस चावल को बाजार में जरूरतमंदों को 18 रुपये में बेचता है। साजिद अली के पास 45 क्विंटल चावल रखा पाया गया, जिसके खरीदी के संबंध में कोई बिल भी नहीं दिखाया गया। खाद्य निरीक्षक रीना साहू ने 45 क्विंटल चावल जब्त कर लिया है।

17 रुपये किलो में चावल खरीद रही थी नसीम बानो

नसीम बानो ने बताया कि वो टिफिन सेंटर चलाती हैं और इस कार्य के लिए राशन कार्ड धारक से चावल 17 रुपये किलो में खरीदती हैं। नसीम बानो के पास से 33 क्विंटल चावल रखा पाया गया। नसीम बानो के पास भी खरीदी का कोई बिल नहीं पाया गया। जांच में सहायक खाद्य अधिकारी संजय दुबे,खाद्य निरीक्षक संदीप शर्मा और रीना साहू शामिल रहीं।

हितग्राहियों को प्रलोभन दिया

खाद्य नियंत्रक तरूण राठौर ने कहा कि ‘हितग्राहियों को प्रलोभन देकर सरकारी राशन को खरीदने की शिकायत मिली थी, इसमें दो लोगों के खिलाफ सार्वजनिक वितरण प्रणाली की धाराओं के उल्लंघन का प्रकरण बनाया गया है।