breaking news New

पंद्रह साल में एड्स के 901 मरीज, 196 की मौत, 705 का उपचार जारी

 पंद्रह साल में एड्स के 901 मरीज, 196 की मौत, 705 का उपचार जारी

 एक लाख से अधिक लोगों की हुई जांच, सर्वाधिक जांच महासमुंद में

महासमुंद । आज विश्व एड्स दिवस है, जागरुकता के अभाव, डर और लोक-लाज के चलते लोग इसकी जांचकराने में कतराते है।पंद्रह साल के अंदर जिले में एड्स के 901 मरीज मिले है।। इसमें 196 मरीजों की जहां मौत हो गई है वहीं 705 मरीजों का अभी उपचार जारी है। सर्वाधिक 552 मरीज महासमुंद ब्लॉक में सामने आए हैं जिसमें 114 लोगों की मौत हुई है। जानकारी के मुताबिक जिले में एड्स के प्रति एक लाख 5919 लोगों ने जागरुकता दिखाते हुए अपनी जांच कराई है।

एड्स को लेकर अभी लोगों में जागरुकता का अभाव है। प्रतिवर्ष एड्स दिवस पर शासन की ओर से जागरुकता के लिए प्रचार प्रसार करने के नाम पर लाखों रुपए खर्च किया जाता है लेकिन इसके बाद भी लोग एड्स जैसी गंभीर बीमारी को लेकर ध्यान नहीं दे रहे हैं। जिसकी वजह से एड्स मरीजों की संख्या जिले में साल दर साल बढ़ती जा रही है। आज विश्व एड्स दिवस है। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर जागरुकता अभियान चलाया जाएगा।

सर्वाधिक जांच महासमुंद में 

आंकड़ों के मुताबिक सर्वाधिक जांच महासमुंद ब्लॉक में 47068 लोगों की गई है। वहीं बागबाहरा में 15067, पिथौरा में 11403, बसना में 10889, सांकरा में 7837, सरायपाली में 12884 और तुमगांव में 771 लोगों ने एड्स की जांच कराई है। चिकित्सकों की माने तो एड्स को लेकर लोगों में अभी जागरुकता का अभाव है। लोग भय और शर्म की वजह से इसकी जांच कराने के लिए सामने नहीं आते है।

ब्लॉक पॉजीटिव मृत उपचार

महासमुंद         552     114     438

बागबाहरा          73     30         43

पिथौरा               36     04         32

बसना              143     39     104

सांकरा               24     04        20

सरायपाली         73     05         68

तुमगांव               00     00     00