breaking news New

रेलवे ने पहुंचाई धार्मिक भावनाओं को ठेंस : मूर्ति

 रेलवे ने पहुंचाई धार्मिक भावनाओं को ठेंस  : मूर्ति

रायपुर । गोदवारा अंडरब्रीज के समीप स्थित प्राचीन शिव मंदिर वर्षों पुराना था, हाल ही में रेलवे की आई नई विकास योजना के तहत उक्त स्थाना को सर्वसम्मति से रेलवे द्वारा दिए गए नियत स्थान के समीप प्राण प्रतिष्ठा कर 28 नवंबर को स्थापित किया गया। शिव मंदिर स्थापना के कुछ दिन बाद ही 4 दिसंबर को रेलवे के अधिकारियों ने बिना पूर्व सूचना के चबूतरे में निर्मित शिव मंदिर को प्रतिमा जब्त करके तोड़ दिया। रेलवे के उक्त कार्यवाही से क्षेत्रवासियों की धार्मिक भावनाओं को ठेंस पहुंची है। 

उक्त जानकारी प्रेसक्लब रायपुर में आयोजित पत्रकारवार्ता में उक्त मोहल्ले के रहवासी किशोर मूर्ति, शैलेन्द्र पाण्डेय, प्रीतम महानंद, एस.पापाराव एवं अधिवक्ता विश्वदनी पाण्डेय ने संयुक्त रूप से दी। 

पत्रकावार्ता में अधिवक्ता पाण्डेय ने बताया कि उक्त मामले को लेकर मंगलवार को 50-60 नागरिक डीआरएम रेलवे से मिले। चर्चा के दौरान डीआरएम ने बताया कि उन्हें मामले की जानकारी नहीं है। अगले 48घंटे में रेलवे द्वारा स्वयं भूमि का चयन कर शिव मंदिर का पुनर्निमाण नहीं करवाया गया तो मोहल्ले के लोग उग्र आंदोलन करेंगे। 

पत्रकारवार्ता में गोंदवारा निवासी कामरान अंसारी ने बताया कि स्वयं रायपुर पश्चिम के विधायक विकास उपाध्याय की उपस्थिति में सर्वसम्मति से भगवान शिव की प्राण प्रतिष्ठा की गई थी। वे स्यवं कार्यक्रम में शामिल हुए। रेलवे द्वारा की गई कार्यवाही पर अंसारी ने आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि एक बार स्थापित स्थल पर मूर्ति को जब्त कर चबूतरे में तोडफ़ोड़ करना गलत है। उन्होंने धार्मिक आस्था को चोट पहुंचाने वालों के खिलाफ जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन से कड़ी कार्यवाही की मांग की है।