महिला ने बीमार बच्चे की मदद के लिए गुहार लगाई, पहुँच गया 20 लीटर ऊंटनी का दूध

महिला ने बीमार बच्चे की मदद के लिए गुहार लगाई, पहुँच गया 20 लीटर ऊंटनी का दूध


नईदिल्ली। कोरोना की वजह से  देश में 21 दिनों का लॉकडाउन है।   इसी लॉकडाउन के बीच एक ऐसा मामला सामने आया है जहां एक महिला ने अपने बीमार बच्चे की मदद के लिए गुहार लगाई तो उसके लिए 20 लीटर ऊंटनी का दूध उपलब्ध करा दिया गया। 

 मुंबई  चेंबूर की एक महिला ने ट्विटर पर  लिखा कि उनका साढ़े तीन साल का बेटा ऑटिज्म और एलर्जी से जूझ रहा है।  वह सिर्फ कैमल मिल्क और थोड़ी सी दाल के सहारे ही जीवित है और लॉकडाउन के कारण  कैमल मिल्क मिलना मुश्किल  हो गया है।  महिला ने लिखा कि अगले कुछ दिनों में दूध खत्म हो जाएगा और बच्चे के लिए इसकी बहुत जरूरत है। 

महिला के इस  ट्वीट  बाद  आईपीएस अरुण बोथरा ने जवाब दिया. राजस्थान के रहने वाले आईपीएस ने महिला से संपर्क किया।  अरुण ने ही राजस्थान के कुछ रेलवे अधिकारियों को इसकी जानकारी दी और महिला तक दूध पहुंचाने की कवायद शुरू की गई। 

आईपीएस अरुण बोथरा ने फिर इस मामले में ट्वीट करते हुए बताया कि अजमेर के सीनियर डीसीएम महेश चंद जुरालिया के साथ इस मामले पर बातचीत हुई है।  लुधियाना और बांद्रा के बीच चलने वाली पार्सल कार्गो ट्रेन 00902 को राजस्थान के फालना स्टेशन पर रोक दिया जाएगा और दूध को वहीं से उठाया जाएगा और मुंबई में महिला को दिया जाएगा। 

chandra shekhar