breaking news New

बेरोज़गारी का समाधान नही चाहती मोदी सरकार : राहुल

बेरोज़गारी का समाधान नही चाहती मोदी सरकार : राहुल

नयी दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बेरोज़गारी के बढ़ते आंकड़े पर सरकार को घेरते हुए शुक्रवार को कहा कि रोजगार सृजन की पहल करने की बजाय सरकारी संस्थाओं को बेचकर लोगों का रोज़गार चाहें रही है।

श्री गांधी ने कहा कि केंद्र सरकार बेरोज़गारी का समाधान नही करना चाहती है। सरकार युवाओ के भविष्य से खिलवाड़ कर रही है और रोज़गार को लेकर उसकी भूमिका अत्यंत ही निराशाजनक है।

श्री गांधी ने कहा,“सबसे बड़ा राष्ट्रीय मुद्दा बेरोज़गारी है जिसके कुछ सीधे समाधान हैं- पीएसयू-पीएसबी मत बेचो,एमएसएमई को आर्थिक मदद दो, मित्रों की नहीं, देश की सोचो। लेकिन केंद्र सरकार समाधान करना नहीं चाहती।”

इससे पहले उन्होंने एक अन्य ट्वीट में बेरोज़गारी को लेकर कहा,“मोदी सरकार रोज़गार के लिए हानिकारक है। वे किसी भी प्रकार के ‘मित्रहीन’ व्यवसाय या रोज़गार को बढ़ावा या सहारा नहीं देते बल्कि जिनके पास नौकरी है उसे भी छीनने में लगे हैं। देशवासियों से आत्मनिर्भरता का ढोंग अपेक्षित है। जनहित में जारी।”

उन्होंन सीएमआईई की रिपोर्ट पर आधारित एक खबर भी पोस्ट की है जिसमे कहा गया है कि अगस्त में इस बार 15 लाख लोगों को नौकरी से हाथ धोना पड़ा है।