breaking news New

मित्तल अस्पताल : जिस संक्रमण का कोई इलाज ही नहीं है उसके लिए इलाज के नाम पर साढे छह लाख से ज्यादा की रकम किस आधार पर वसूली गई?

मित्तल अस्पताल : जिस संक्रमण का कोई इलाज ही नहीं है उसके लिए इलाज के नाम पर साढे छह लाख से ज्यादा की रकम किस आधार पर वसूली गई?


भिलाई, 25 नवंबर। विगत दिनों पूर्व सांसद स्वर्गीय ताराचंद साहू के छोटे दमाद शिवकुमार साहू की मृत्यु कोरोना वायरस संक्रमण के चलते मित्तल अस्पताल में हो गई थी। अस्पताल प्रबंधन ने लाखों रुपए कोरोना वायरस संक्रमण के इलाज के नाम पर गलत तरीके से मृतक के परिजनों से वसूल लिए।इस बात की शिकायत करते हुए स्वाभिमान पार्टी के नेता सतीश कुमार त्रिपाठी ने जिला कलेक्टर और अन्य अधिकारियों को ज्ञापन देकर पैसे वापस से की मांग की थी। अपर कलेक्टर श्री पंजभाई ने पदाधिकारियों को आश्वस्त करते हुए तीन सदस्यीय जांच समिति का गठन किया था।किंतु महीनों बीत जाने के बाद भी जांच समिति ने अब तक न किसी प्रकार की कोई जांच की और न ही कोई रिपोर्ट प्रस्तुत की। सतीश त्रिपाठी का कहना है कि वह पेशे से अधिवक्ता भी हैं।उच्च न्यायालय में यदि यह मामला चला गया तो मित्तल अस्पताल और मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी गंभीर सिंह ठाकुर को यह जवाब देना मुश्किल हो जाएगा कि जिस संक्रमण का कोई इलाज ही नहीं है उसके लिए इलाज के नाम पर साढे छह लाख से ज्यादा की रकम किस आधार पर वसूली गई? 

अस्पताल का लाइसेंस निरस्त करने की मांग को लेकर स्वाभिमान पार्टी के पदाधिकारी और कार्यकर्ता 26 नवंबर को जिला कलेक्टर के सामने प्रदर्शन करते हुए पुनः ज्ञापन सौंपेंगे। साथ ही जिला कलेक्टर से इस बात की मांग की जाएगी कि तत्काल अस्पताल प्रबंधन के द्वारा लूट ली गई साढे छह लाख की रकम में से वाजिब खर्च काटकर शेष संपूर्ण रकम परिजनों को वापस की जाए।