breaking news New

रोजगार की तलाश में जा रहे ग्रामीणों को जिला पंचायत अध्यक्ष तूलिका कर्मा ने रोका

रोजगार की तलाश में जा रहे ग्रामीणों को जिला पंचायत अध्यक्ष तूलिका कर्मा ने रोका

 दंतेवाड़ा।  नक्सल प्रभावित क्षेत्र में रहने वाले दूरदराज के ग्रामीण रोजगार की तलाश में आए दिन पलायन कर रहे हैं  क्योंकि हर साल बड़ी तादाद में पलायन कर विभिन्न राज्यों में मिर्ची तोड़ने जाते हैं जबकि शासन प्रशासन पंचायत स्तर बड़े पैमाने पर रोजगार उपलब्ध कराने की बात कर रहा है चाहे वह मनरेगा हो या स्व सहायता समूह के माध्यम से रोजगार देना 

ऐसा ही मामला मुख्यालय बस स्टैंड में पाया गया जहां बड़ी तादाद में ग्रामीण रोजगार की तलाश में पलायन करते पाए गए जिसके बाद प्रशासनिक अमला को भनक पड़ी वह तत्काल बस स्टैंड में जाकर उन्हें रोकने में कामयाब हुआ कुछ ग्रामीणों से बातचीत भी की गई तो पता चला कि वह आंध्र प्रदेश मिर्ची तोड़ने अपने गांव वालों के साथ जा रहे हैं जो बड़ी बड़ी तादाद में अलग-अलग गांव के हैं क्योंकि हमें मनरेगा का भुगतान नहीं हुआ है कुछ नहीं बताया हमारे खाते पर पैसे अभी तक नहीं आए जिसके कारण हम अन्य प्रदेश में रोजगार की तलाश में मिर्ची तो होने जा रहे हैं

पंचायत सीओ अश्वनी देवांगन वर्जन

पंचायत सीओ अश्वनी देवांगन ने बताया कि बड़ी तादाद में ग्रामीण लाइन करने की सूचना मिली थी जिस पर तत्काल कार्रवाई करते हुए जिला प्रशासन और ला बस स्टैंड पहुंचा है और इन्हें रोका गया है जबकि जिला प्रशासन द्वारा गांव में जिला पंचायत पंचायत के माध्यम से भरपूर रोजगार है और हमारे 140 पंचायत में 500 से अधिक कार्य चल रहे है जिसके तहत 15000 श्रमिकों  को रोजगार मिला है 

यहां आने से मुझे मालूम चला कि चिकपाल पंचायत में मनरेगा का भुगतान नहीं हुआ है परंतु ऑनलाइन चेक कराया गया तो 5:30 लाख से ज्यादा का भुगतान हो चुका है भुगतान हुआ है अगर ऐसी कोई समस्या है तो इसकी जांच कराई जाएगी 

और पलायन के पीछे जो भी दोषी पाया जाएगा उसके ऊपर उचित कार्रवाई की जाएगी हमारे यहां रोजगार के उचित अवसर हैं और सब को रोजगार दिया जा रहा है