breaking news New

मंत्री अमरजीत भगत ने विधानसभा में पेश किया आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21 की रिपोर्ट

मंत्री अमरजीत भगत ने विधानसभा में पेश किया आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21 की रिपोर्ट

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा में बजट सत्र के पांचवें दिन योजना आर्थिक एवं सांख्यिकी मंत्री अमरजीत भगत ने आज विधानसभा में छत्तीसगढ़ आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21 की रिपोर्ट पेश की। रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश में जीडीपी विकास दर में 1.77 और उद्योग क्षेत्र में 5.28 प्रतिशत की कमी आई है, जबकि कृषि क्षेत्र में कृषि, पशुपालन, मत्स्य एवं वन में 4.61 प्रतिशत एवं सेवा क्षेत्र में 0.75 की वृद्धि हुई है। वहीं प्रति व्यक्ति की आय दर में 0.14 प्रतिशत की गिरावट आई है, जिसके बाद प्रदेश में व्यक्ति की आय अब 01 लाख 04 हजार 943 है।
    मंत्री  भगत ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि विधानसभा बजट सत्र में छत्तीसगढ़ राज्य का आर्थिक सर्वेक्षण वर्ष 2020-21 पटल पर प्रस्तुत किया गया। इस रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2020-21 में छत्तीसगढ़ एवं भारत के जीडीपी दर में कमी आई है। भारत में जहां 7.73 प्रतिशत की कमी आई है, वहीं छत्तीसगढ़ में 1.77 प्रतिशत की कमी आई है। उन्होंने बताया कि जीएसडीपी के विकास दरों में अखिल भारतीय वृद्धि दर की तुलना में हमारा प्रदर्शन बेहतर रहेगा। उन्होंने कहा कि कोविड-19 की महामारी एवं लाकडाउन होने के बावजूद भी कृषि एवं सेवा क्षेत्र में वृद्धि हुई है, जो राज्य सरकार की नीतियों एवं नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी विकास योजना के प्रभाव को दिखाता है।
     भगत ने बताया कि कृषि क्षेत्र में भारत में 3.38 की वृद्धि हुई है, जबकि छत्तीसगढ़ में 4.61 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। इसी प्रकार सेवा के क्षेत्र में भारत में 8.77 प्रतिशत की कमी आई है, जबकि छत्तीसगढ़ में 0.75 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है। उन्होंने बताया कि औद्योगिक क्षेत्र में भारत के साथ-साथ छत्तीसगढ़ में भी गिरावट आई है। इसमें भारत में जहां 9.57 प्रतिशत की गिरावट आई है, वहीं छत्तीसगढ़ में यह गिरावट 5.28 प्रतिशत रही।
    मंत्री  भगत ने जीडीपी स्थित भाव में क्षेत्रवार योगदान का छत्तीसगढ़ एवं भारत में तुलना करते हुए बताया कि इस क्षेत्र में कृषि में छग में 17.64 प्रतिशत जबकि भारत में 16.32 प्रतिशत, औद्योगिक क्षेत्र में छग में 46.43 प्रतिशत एवं भारत में 29.43 प्रतिशत। इसी प्रकार सेवा क्षेत्र में छग में 35.93 प्रतिशत एवं भारत में 54.25 प्रतिशत रहा।
    भगत ने छग और भारत में प्रति व्यक्ति आय के संबंध में जानकारी दी कि छग और भारत दोनों प्रति व्यक्ति की आय में कमी आई है इनमें 0.14 प्रतिश छग में एवं 5.41 प्रतिशत भारत में कमी आई है।
    उन्होंने सकल राज्य घेरलू उत्पाद (जीएसडीपी) वर्ष 2020-21 को लेकर बताया कि अग्रिम अनुमान वर्ष 2020-21 में सकल राज्य घरेलू उत्पाद (बाजार ूल्य)(जीएसडीपी एट मार्केट प्राईज) पर गत वर्ष 2019-20 के रूपये 3,44,955 (तीन लाख चवालिस हजार नौ सौ पचपन) करोड़ से बढ़कर रूपये 3,50,270 (तीन लाख पचास हजार दो सौ सत्तर) करोड़ होना संभावित  है, जो कि 1.54 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाता है। जिसमें वर्ष 2019-20 में कृषि एवं संबंद्ध क्षेत्र (कृषि पशपालन, मत्स्य,एवं वन ) में रूपये 67,025 (सड़सठ हजार पच्चीस) करोड़ से बढ़कर वर्ष 2020-21 में रूपये 73,994 (तिहत्तर हजार नौ सो चौरानवे) करोड़, इसी प्रकार उद्योग क्षेत्र (निर्माण, विनिर्माण, खनन एवं उत्खन्न, विद्युत,गैस तथा जल आपूर्ति सम्मिलित) में रूपये 1,33,680 (एक लाख तैतीस हजार छ:सौ अस्सी) करोड़ से घटकर रूपये 1,29,211 (एक लाख उनतीस हजार दो सौ ग्यारह) करोड़ एवं सेवा क्षेत्र में रूपये 1,18,917 (एक लाख अठारह हजार नौ सौ सत्रह) करोड़ से बढ़कर रूपये 1,22,893 (एक बाईस हजार आठ सौ तिरानवे) करोड़ होना संभावित है, जो कि गत वर्ष की तुलना में प्रतिशत वृद्धि/कमी क्रमश: 10.40,-3.34 आंकलित है।