breaking news New

महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने महिला सशक्तिकरण पर जोर, मंत्री ने दिया महिला समुहों को मिनी राईस मिल मशीन व ऋणमाफी प्रमाण पत्र

महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने महिला सशक्तिकरण पर जोर, मंत्री ने दिया महिला समुहों को  मिनी राईस मिल मशीन व ऋणमाफी प्रमाण पत्र

 हेमन्त मिश्रा

 बलौदाबाजार। छत्तीसगढ़ महिला कोष ऋण योजना के तहत जिले के कुल 113 महिला स्व सहायता समूहों के 30 लाख 12 हजार से अधिक रुपये का हुआ ऋण माफ,10 महिला स्व सहायता समूहों को 3 लाख 80 हजार का ऋण माफ प्रमाण पत्र प्रदान कर किया गया शुभारंभ


महिला बाल विकास विभाग द्वारा आज जिला मुख्यालय के नगर भवन में आयोजित महिला सशक्तिकरण सम्मलेन में महिला बाल विकास एवं समाज कल्याण मंत्री अनिला भेड़िया शामिल हुई. उन्होंने इस मौके पर राज्यसभा सांसद छाया वर्मा के सांसद निधि एवं खनिज विकास निधि के सहयोग से महिला स्व सहायता समूहों को 82 नग मिनी राइस मिल मशीनें ( यूनिट ) वितरित किया गया।

जिसकी प्रति यूनिट लागत मूल्य 1 लाख 3 हजार रुपए है। इसके साथ ही छत्तीसगढ़ महिला कोष ऋण योजना के तहत जिले के कुल 113 महिला स्व सहायता समूहों के 30 लाख 12 हजार से अधिक रुपये का ऋण माफ किया गया है। इसके तहत 10 महिला स्व सहायता समूहों को 3 लाख 80 हजार रुपये का ऋण माफ प्रमाण पत्र प्रदान कर इसका शुभारंभ किया।


इस मौके पर महिला बाल विकास मंत्री अनिला भेड़िया ने कहा कि हम सभी प्रदेश के मुखिया भूपेश बघेल के सपनों के अनरूप महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने में आगें बढ़ रहे है। इससे ग्रामीण अर्थव्यवस्था में भी तेजी आएगी। अब प्रदेश की महिलाएं केवल  चूल्हा चौके तक सीमित नही है। बल्कि घर के काम काज के साथ ही खुद के पैरों में खड़ी हो रही है।

उन्होंने साथ ही कहा कि अब किसी भी महिला के साथ अन्याय नही होगा,ना ही किसी भी प्रकार प्रताड़ित नही किया जाएगा। यदि ऎसी घटना होती है तो प्रशासन एवं राज्य सरकार ऐसे दोषियों को माफ नही करेगा। उन्होंने इस मौके पर राज्यसभा सांसद छाया वर्मा की खूब प्रशंसा की एवं गरिमामय कार्यक्रम के लिए महिला बाल विकास विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों,महिला स्व सहायता समूहों के सदस्यों के कार्यो की सराहना की राज्यसभा सांसद छाया वर्मा ने कहा कि पिछले साल मैंने अपने निधि से 2 गांव हथबंद एवं करमदा में दो मिनी राइस मील महिला स्व सहायता समूह को दिया था। जिसका बहुत अच्छा सकारात्मक परिणाम मिलने लगा है। इससे प्रभावित होकर मैंने ठाना की यदि ऐसे ही हम गांव गांव के महिला स्व सहायता समूहों को मिनी राइस मिल प्रदान करते है तो वह केवल ना अपने घर बल्कि आसपास के लोगो का धान, गेंहू पीस सकते है। इससे उन्हें अतिरिक्त आमदनी प्राप्त होंगी।

इस अवसर पर पाठ्य पुस्तक निगम के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी,जिला पंचायत अध्यक्ष राकेश वर्मा, रायपुर जिला पंचायत अध्यक्ष डोमेश्वरी वर्मा, पूर्व विधायक जनक वर्मा, जिलाध्यक्ष हितेंद्र ठाकुर,दिनेश यदु ,चेम्बर ऑफ कॉर्मस अध्यक्ष जुगल किशोर भट्टर जिला पंचायत उपाध्यक्ष सरिता ठाकुर, जिला पंचायत सदस्य परमेश्वर यदु सहित बड़ी सँख्या में महिला जनप्रतिनिधि गण उपस्थित रहे।


10 महिला स्व सहायता समूहों में बलौदाबाजार,रिसदा,पोंसरी, सेमराडीह,खम्हरिया,कोनारी, अछोली,बालोदी के एक एक समूह को एवं ग्राम बिनोरी के 2महिला स्व सहायता समूहों के ऋण माफ किया गया। महिला स्व सहायता समूहों की सदस्यों ने ऋण माफ  होने पर सरकार के प्रति आभार व्यक्त किया।

इसी तरह मिनी राइस मिलने पर बलौदाबाजार विकासखण्ड के ग्राम सेमरहाडीह निवासी प्रमिला वर्मा ने कहा कि हमारे समूह में कुल 11 लोग है। हम अब  इससे अपने कार्य को विस्तार देंगे।


पूरे गांव के धान कूटने एवं गेहूं पीसने में उपयोग होगा। जिससे हम लोगों को निश्चित ही अतरिक्त आमदनी का  अर्जन होगा। इस मौके पर दूर दराज से महिला स्व सहायता समूहों के सदस्य एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता,बड़ी संख्या में स्थानीय जनप्रतिनिधियों सहित महिला बाल विकास विभाग के अधिकारी कर्मचारी गण उपस्थित थे।