breaking news New

भ्रष्टाचार पर बोलने से पहले तेजस्वी को सदन से दे देना चाहिए इस्तीफा

भ्रष्टाचार पर बोलने से पहले तेजस्वी को सदन से दे देना चाहिए  इस्तीफा

पटना।  बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने राष्ट्रीय जनता दल (राजद) एवं प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव पर हमला बोला और कहा कि वह बेनामी सम्पत्ति मामले में आरोपी हैं तो भ्रष्टाचार पर बोलने से पहले उन्हें सदन से इस्तीफा दे देना चाहिए।
भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता श्री मोदी ने बुधवार को ट्वीट किया कि जिनके माता-पिता के राज में मुख्यमंत्री आवास तक में भ्रष्टाचार फैला था और अपराधियों को राजनीतिक शरण दी जाती थी, उन्हें भ्रष्टाचार नियंत्रण पर अंकुश के लिए राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार की पहल कभी नहीं दिखती। उन्होंने कहा कि बिहार सरकार ने आय से अधिक सम्पत्ति जब्त कर स्कूल खोलने की मिसाल कायम की।
श्री मोदी ने कहा कि अब सरकारी कर्मचारियों के लिए सम्पत्ति खरीदने-बेचने से पहले सरकार को जानकारी देना अनिवार्य करने का फैसला भी नौकरशाही में भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने वाला है। उन्होंने कहा कि श्री तेजस्वी यादव यदि भ्रष्टाचार के मुद्दे पर गंभीर हैं, तो उन्हें विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा देना चाहिए और बेनामी सम्पत्ति मामले में बरी होने तक चुनाव नहीं लड़ना चाहिए।
भाजपा नेता ने कहा कि लालू-राबड़ी राज में गरीब के बच्चों की पढाई के लिए स्कूलों में लगभग चार लाख शिक्षकों की कमी थी। जब राजग सरकार ने दो चरणों में तीन लाख से ज्यादा शिक्षकों की नियुक्ति की तब लालू प्रसाद उनकी डिग्री को फर्जी बता रहे थे। उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद ने गरीबों के बच्चों को अच्छी शिक्षा से ऐसा वंचित किया कि लाखों युवा आरक्षण पाने लायक पढाई भी पूरी नहीं कर सके।