breaking news New

पिता-पुत्र सास बहू की जघन्य हत्या, पुलिस का दावा हत्यारे जल्दी होगी गिरफ्तार

पिता-पुत्र सास बहू की जघन्य हत्या, पुलिस का दावा हत्यारे जल्दी होगी गिरफ्तार

भिलाई। राजधानी रायपुर से लगे खुड़मुड़ा गाँव थाना  अमलेश्वर पाटन में दिल दहलाने वाली वारदात हो गई। बाड़ी में रहकर सब्जी व्यवसाय करने वाले  परिवार के चार सदस्यों की हत्या से  गांव में सनसनी फैल गई है। वही इस वारदात में  एक 11 वर्षीय बालक गंभीर रूप से घायल हो गया  जिसका इलाज रायपुर के मेकाहारा हॉस्पिटल में  किया जा रहा है । जानकारों से मिली जानकारी के अनुसार  बालक  होश में आ गया है ।बताया जाता है कि सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अपनी बाड़ी में   सब्जी उगा कर रायपुर शास्त्री मार्केट  में बेचने वाले  बालाराम सोनकर उसकी पत्नी दुलारी सोनकर, पुत्र रोहित सोनकर और बहू कीर्ति सोनकर की नृशंस तरीके से हत्या कर दी गई है। बहू की लाश घर के बाहर मिली उसके सिर को पत्थरों से कुचला गया है वहीं मुखिया बालाराम सोनकर उनकी पत्नी और पुत्र की लाश बाड़ी के पानी टंकी से बरामद हुई। हमलावरों ने बालाराम सोने के नाती 11 साल के दुर्गेश को भी गंभीर रूप से घायल कर दिया है जिसका मेकाहारा रायपुर में उपचार जारी है। सूत्रों ने बताया कि इस हत्या के संबंध में प्रारंभिक पूछताछ में 11 वर्षीय  बालक दुर्गेश ने एक अज्ञात व्यक्ति द्वारा हमला किये जाने की बात कहते हुए हमलावर को पहचानने से इंकार कर दिया है ।उल्लेखनीय है कि  परिवार के मुखिया बालाराम सोनकर के तीन पोता-पोती वर्षा, ईश्वर व तोरण हमलावार से बचे हुए है।     ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस की टीम जब घटना स्थल पर पहुँची तो घर के बाहर बहू की रक्तरंजित लाश और बाड़ी में ही पानी टंकी में डूबी हुई सास की लाश मिलने से पुलिस सकते में आ गई। घर के मुखिया बालाराम सोनकर और पुत्र रोहित गायब थे। फॉरेन्सिक एक्पर्ट की टीम जब घटना स्थल पर पहुँची और पानी टंकी से दुलारी सोनकर लाश निकाली पुलिस के अधिकारियों की आँख फटी रह गई। टंकी के अंदर बालाराम सोनकर एवं उनके पुत्र रोहित सोनकर की भी लाश मिलने से पुलिस द्वारा वारदात को लेकर जो कयास लगाये जा रहे थे उस पर से पर्दा हट गया और इस बात का स्पष्ट संकेत मिला कि, हमले में किसी बाहरी व्यक्ति का हाथ है। पुलिस के अनुसार लूट या डकैती की नियत से वारदात को अंजाम नहीं दिया गया है किसी रंजिश या पारिवारिक विवाद पर से घटना को अंजाम दिया गया है। घटना की जानकारी लगते ही पुलिस के  डीजीपी डी.एम.अवस्थी दुर्ग रेन्ज के पुलिस महानिरीक्षक विवेकानंद सिन्हा, पुलिस अधीक्षक प्रशांत ठाकुर, अति.पुलिस अधीक्षक ग्रामीण प्रज्ञा मेश्राम, अनुविभागीय पुलिस अधिकारी पाटन आकाश राव गिरपुंजे, अम्लेश्वर थाना प्रभारी निरीक्षक विरेन्द्र श्रीवास्तव पुलिस अमले के साथ घटना स्थल पर पहुँचे और बारिकी से पूरे घटना स्थल का अवलोकन किया। कहा जाता है कि  पुलिस की जांच  का अहम बिंदु  इस वारदात में गंभीर रूप से घायल परिवार के 11 वर्षीय बालक दुर्गेश सोनकर के बयान पर  टिक गई है।


बीती रात इस ह्रदय विदारक वारदात में परिवार के मुखिया बालाराम सोनकर (60 वर्ष) उसकी पत्नी दुलारी बाई सोनकर (55 वर्ष) पुत्र रोहित सोनकर (32 वर्ष) व पुत्र वधु कीर्ति सोनकर (27 वर्ष) की बड़े ही बेरहमी से निर्मम  हत्या कर दी गई है। 

   सोमवार की सुबह दुलारी बाई सोनकर की लाश बाड़ी में सिंचाई के लिए बनाए गए पानी की टंकी में तैरती हुई मिली। उसी के नजदीक खुली जगह पर बहू कीर्ति सोनकर की रक्तरंजित लाश पड़ी थी। जांच के दौरान पुलिस का मानना है दोनों की हत्या किसी वजनी पत्थर से सिर कुचलकर की गई प्रतीत हो रही थी। इस बीच घर के दोनों पिता पुत्र  बालाराम व रोहित कहीं भी नजर नहीं आ रहे थे। घर का दरवाजा बाहर से बंद था। पुलिस ने उसे खुलवाया तो वहां कोई नहीं मिला। फिर जिस पानी टंकी में दुलारी बाई की लाश मिली थी, उसके तह में जाकर तलाश किया गया तो घनाराम व रोहित की लाशें वहां मिल गई।

डीजीपी नदिया दिशा निर्देश

छत्तीसगढ़ पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी ने  घटनास्थल पहुंचकर चश्मदीद गवाह परिवार के नाबालिग 11 वर्षीय बालक के स्वास्थ्य की जानकारी ली।साथ ही अवस्थी ने घटना स्थल का बारीकी से निरीक्षण किया। आईजी विवेकानंद सिन्हा व एसपी प्रशांत ठाकुर से भी वारदात से जुड़े विभिन्न पहलुओं पर चर्चा करते हुए जांच करने का जरुरी दिशा निर्देश दिए।

     00   हमलावर शीघ्र होंगे गिरफ्तार 00 पुलिस अधीक्षक प्रशांत ठाकुर ने दावा किया है कि, हमलावर शीघ्र ही पुलिस की गिरफ्त में होंगे इस मामले में  पुलिस द्धार साइबर क्राइम सहित 8 टीेमें में बनाई गई है। जो सभी बिंदुओं पर जांच कर रही है।