breaking news New

गुरु घासीदास बाबा की 264 वी जयंती पर जयकारे के साथ निकाला गया शोभायात्रा

गुरु घासीदास बाबा की 264 वी जयंती पर जयकारे के साथ निकाला गया शोभायात्रा

सक्ती डभरा।   डभरा ब्लॉक के अंतर्गत ग्राम तेंदुमुड़ी में  संत शिरोमणि बाबा  गुरु घासीदास जी की 264 वी जयंती मनाया गया जिसमें  सर्व समाज व बाबा के अनुयायियों द्वारा गांव में शोभायात्रा निकाल कर जय सतनाम जय सतनाम के जयकारे लगाते हुए  जय स्तंभ  के  पास पहुंचे  और विधिवत पूजा अर्चना कर ध्वजारोहण किया गया इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में  चंद्रपुर विधानसभा के भाजपा युवा नेता आलोक पटेल उपस्थित थे  वही पटेल ने संत शिरोमणि गुरु घासी दास जी को याद करते हुए माता अमरौतिन और बाबा महंगु दास  जी को भी नमन किया। 

उन्होंने सम्बोधन में कहा कि हर व्यक्ति के मन में बसे हैं संत शिरोमणि बाबा गुरु घासीदास जी,अपने जीवन शैली में उनके संदेशों को जीवंत करने की आवश्यकता है । उन्होंने कहा कि गुरु घासीदास ने समाज के लोगों को सात्विक जीवन जीने की प्रेरणा दी।

उन्होंने न सिर्फ सत्य की आराधना की, बल्कि समाज में नई जागृति पैदा की और अपनी तपस्या से प्राप्त ज्ञान और शक्ति का उपयोग मानवता की सेवा के कार्य में किया।इसी प्रभाव के चलते लाखों लोग बाबा के अनुयायी हो गए।

फिर इसी तरह छत्तीसगढ़ में 'सतनाम पंथ' की स्थापना हुई। इस संप्रदाय के लोग उन्हें अवतारी पुरुष के रूप में मानते हैं। गुरु घासीदास के मुख्य रचनाओं में उनके सात वचन सतनाम पंथ के 'सप्त सिद्धांत' के रूप में प्रतिष्ठित हैं। इसलिए सतनाम पंथ का संस्थापक भी गुरु घासीदास को ही माना जाता है। इस अवसर पर पोषण सारथी , अनिल रात्रे , किशन कर्ष ,पोखराज पटेल, रमेश पटेल सहित समस्त ग्रामवासी बाबा के अनुयायी  उपस्थित रहे।