breaking news New

IAS एन. बैजेंद्रकुमार आज होंगे रिटायर, सीएस नही बन पाने का मलाल रहेगा, केन्द्र में संविदा में प्रतिनियुक्ति मिलने की अटकलें

IAS एन. बैजेंद्रकुमार आज होंगे रिटायर, सीएस नही बन पाने का मलाल रहेगा, केन्द्र में संविदा में प्रतिनियुक्ति मिलने की अटकलें

रायपुर. एनएमडीसी के चेयरमैन, आइएएस एन. बैजेंद्रकुमार आज 35 सालों की सेवा के बाद सेवानिवृत्त हो जाएंगे. एनएमडीसी मुख्यालय में एक सादा समारोह भी आयोजित किया गया है जिसमें बैजेंद्रकुमार को कर्मचारी व अधिकारी बिदाई देंगे.

एक टिवट करते हुए बैजेंद्रकुमार ने कहा कि 35 वर्षों की यात्रा का यह आखिरी दिन है! मुझे जो भी ज़िम्मेदारियाँ सौंपी गयीं, उसमें मैंने हमेशा देश और देशवासियों को पहले स्थान पर रखा. यह मेरे परिवार, सहकर्मियों और आप सभी के समर्थन के बिना संभव नहीं हो सकता था।

एनएमडीसी के चेयरमैन रहते हुए एन. बैजेंद्रकुमार ने छत्तीसगढ़ के लिए काफी कुछ किया. विशेषत: बचेली में मुखयालय लाने के लिए उन्होंने जो प्रयास किए, वह सफल रहे. उन्होंने छत्तीसगढ़ में लगभग 18 साल से ज्यादा का समय बिताया और कई प्रमुख पदों पर भी रहे. कई विभागों के प्रमुख सचिव रहे, पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमनसिंह के काफी नजदीकी भी रहे. जनसंपर्क आयुक्त के तौर पर उनका कार्यकाल सराहा गया था.

एन. बैजेंद्रकुमार की छबि ऐसे आईएएस की रही है जो परिणाम देते रहे हैं और किसी भी राजनेता के साथ फिट हो जाने वाला व्यवहार रहा है. रमन सरकार में उन्हें कई मंत्रियों के साथ काम करने का मौका मिला. बाद में जब राज्य में सत्ता परिवर्तन हुआ तो वे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के करीबी हो गए. उनके निर्देशों के अनुसार आदिवासी युवाओं को नौकरियां, मेधावी युवाओं को छात्रवृत्तियां, आर्थिक मदद, सीएसआर फण्ड से बस्तर की कई सामाजिक संस्थाओं की मदद उन्होंने की.

उनके समकक्ष आइएएसों को ऐसा लग रहा था कि बघेल सरकार में कहीं वे मुख्य सचिव तो नही बन रहे. बैजेन्द्र कुमार का नाम भी चला लेकिन सीएस नही बन सके. अभी भी माना जा रहा है कि एनएमडीसी से रिटायर होने के बाद उन्हें केन्द्र में कहीं प्रतिनियुक्ति मिल सकती है. बैजेंद्र कुमार को तीन—तीन मुख्यमंत्रियों के साथ काम करने का मौका मिल चुका है.