breaking news New

मंडीः रविवार को भी हुआ काम, हर काम होगा व्यवस्थित

मंडीः रविवार को भी हुआ काम, हर काम होगा व्यवस्थित

राजकुमार मल

भाटापारा, 30 मई। प्रयास है कि सोमवार की सुबह मंडी प्रांगण का दबाव वाला हिस्सा खाली रहे, ताकि इस दिन की आवक के साथ काम-काज को सुचारू रूप से संपादित किया जा सके। हर वह गलती खोजी जा रही है, जो नुकसान का कारण बनती रहीं हैंं। इसे दूर करने की पूरी कोशिश है।

शनिवार की सुबह किसानों ने जैसा गुस्सा दिखाया, उसके बाद मंडी प्रबंधन ने अब हर कदम बेहद सावधानी के साथ उठाने का फैसला लिया है। कोशिश की जा रही है कि त्रुटियां, जितनी ज्यादा दूर की जा सकती है, उन्हें दूर करें। शायद इसी सोच  की वजह से शनिवार की आवक के बाद बच गए काम-काज रविवार को पूरा किया जा रहा है।


रविवार  को भी चलता रहा काम

शनिवार की रिकॉर्ड आवक के बाद व्यवस्था, जैसी बाधित हुई, उसके बाद बिखरे काम को समेटने का प्रयास रविवार को भी होता रहा। तौलाई, सिलाई ,ट्रकों में भराई के साथ-साथ रविवार की आवक को भी सहेजने जैसे काम होते रहे ।भले ही इस सारे काम में श्रमिकों की कमी बाधा बनी लेकिन प्रयास किए जाते रहे।

इस पर है पूरा ध्यान

लॉकडाउन के 42 दिन के लंबे बंद के बाद खुली, कृषि उपज मंडी में आवक का दबाव जैसा बढ़ा हुआ है, उसके बाद प्रयास किए जा रहे हैं कि जिस दिन आवक, उसी दिन नीलामी, तौलाई और मिलों के लिए कृषि उपज की रवानगी तय की जा सके । इस काम में समय जरूर अधिक लग रहा है लेकिन प्रयास करते रहना है । इस सोच ने रविवार को भी काम करने का फैसला लेने के लिए प्रेरित किया है।

सब हैं सतर्क

पांच जिले की कृषि उपज की गंभीर जिम्मेदारी संभालने वाली, भाटापारा कृषि उपज मंडी में व्यवस्था को लेकर भले ही सवाल उठाए जा रहे हों लेकिन मंडी संचालन से जुड़ा प्रशासनिक अमला, अभिकर्ता, मिलर्स और मजदूर, हर कोई अपनी जिम्मेदारी को लेकर बेहद सतर्क नजर आता दिखाई देता है।

कृषि उपज मंडी के सचिव एस के चवरे ने कहा कि दिक्कत पर पूरी नजर है। प्रयास है कि इसे  जल्द से जल्द खत्म की जा सके।