Big Breaking : गांव गए तो रहना होगा 14 दिनों तक शेल्टर होम में, केंद्रीय गृह सचिव का निर्देश, पलायन और बढ़ते कोरोना' के डर से उठाया कदम

Big Breaking : गांव गए तो रहना होगा 14 दिनों तक शेल्टर होम में, केंद्रीय गृह सचिव का निर्देश, पलायन और बढ़ते कोरोना' के डर से उठाया कदम

रायपुर. राजधानी और अन्य शहरों से अपने गांवों की ओर पलायन कर रहे लोगों के लिए अब एक और आफत आ गई है. सरकार के केंद्रीय गृह सचिव का निर्देश है कि जो लोग गांव गए हैं, उन्हें 14 दिनों तक शेल्टर होम में रहना होगा. इस निर्देश का मतलब साफ है कि सरकार नहीं चाहती कि जो लोग शहर से गांवों में गए हैं, उनके कारण कोरोना का खतरा फैले.

ऐसे लोग बिना मेडिकल जांच के शहरों से अपने-अपने घर गए हैं. कम्युनिटी ट्रांसमिशन को रोकने के लिए सरकार ने ये निर्देश दिया है. इस संबंध में जब राज्य के पुलिस महानिदेशक डी एम अवस्थी से संपर्क साधा गया तो उनसे बात नही हो सकी. इसी तरह गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू से भी संपर्क नही हो सका, कोशिश की गई.

दूसरी ओर लोगों का पलायन रोकने के लिए पुलिस ने भी कमर कसी है. पुलिस सूत्रों के मुताबिक किसी भी बस को बाहर नहीं जाने दिया जाएगा. प्रत्येक जगह पर पुलिस अनाउंसमेंट करेगी कि कोई बस किसी तरफ नहीं जा रही है लिहाजा लोग घरों से बाहर ना निकलें. रेलवे ट्रैक के जरिए जो लोग आ रहे हैं उन्हें भी रोका जाएगा.

केंद्रीय गृह सचिव ने लॉकडाउन को लेकर कड़े निर्देश जारी किए हैं. इन निर्देशों के मुताबिक जो लोग अपने घरों से बाहर निकल कर अपने गृह जनपदों तक गए हैं, उन्हें अपने गृह जनपद में राज्य सरकार द्वारा उपलब्ध कराए गए शेल्टर होम में 14 दिनों तक रहना होगा.