breaking news New

अधिक पैसे लेने के बाद भी बाठिया अस्पताल ने शव देने से मना किया , भाजयुमो के दबाव के बाद शव परिजनों को सौंपा

अधिक पैसे लेने के बाद भी बाठिया अस्पताल ने शव देने से मना किया , भाजयुमो के दबाव के बाद शव परिजनों को सौंपा



*सरकार के निर्देश के बावजूद भी निजी अस्पतालों की मनमानी जारी भाजयुमो ने शिकायत की*

रायपुर ! शासन द्वारा निजी अस्पतालों में निगरानी के अभाव ने कोरोना इलाज की दर तय करने के बावजूद भी उनकी मनमानी जारी है। आज ऐसे ही एक मामले में भाजयुमो के जिला महामंत्री राहुल राव की पहल पर एक मरीज घनश्याम साहू के मृत्यु होने के पश्चात बाठिया अस्पताल प्रबंधन से चर्चा कर उनके परिजनों को उनका शव दिलवाया गया।

 मृतक के भतीजे ओम प्रकाश साहू ने बताया कि 21 अप्रैल को मरीज को भर्ती करने के पश्चात अस्पताल प्रबंधक अभी तक उनसे 6:50 लाख ले चुका है और  मरीज की मृत्यु होने के बाद 70 हजार की मांग की गई और शव देने से मना कर दिया।

  मामले की जानकारी होने पर युवा मोर्चा के जिला महामंत्री राहुल राव ने अस्पताल प्रबंधन से इलाज की जानकारी  और उसमें खर्च हुई राशि का बिल मांगा । अस्पताल प्रबंधक द्वारा हील हवाला करने पर भाजयुमो ने वहां धरना देकर स्वास्थ्य मंत्री को शिकायत करने की बात कही । तब प्रबंधन ने परिजनों को शव सौंपा और अतिरिक्त राशि वापस करने की बात स्वीकार की है।

भाजयुमो जिला महामंत्री राहुल राव ने शिकायत करके , ऐसे अस्पतालों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई कर जनता को राहत दिलाने की शासन से मांग की है। उपरोक्त अवसर पर युवा मोर्चा के फणीन्द्र तिवारी, राहुल राय,अजय सोनी,विकास अग्रवाल, गुड्डू वैष्णव ,मनीष साहू उपस्थित थे।