breaking news New

कर्मचारी ना होने के कारण जनकपुर केंद्र में नहीं खरीदी जा सकी किसानों से धान

कर्मचारी ना होने के कारण जनकपुर केंद्र में नहीं खरीदी जा सकी किसानों से धान

 कोरिया।   जिले के तहसील भरतपुर के जनकपुर धान खरीदी समिति मे सैकड़ो किसान धान बेचने के लिए टोकन कटाने आये है लेकिन धान खरीदी केंद्र मे कोई भी अधिकारी व कर्मचारी केंद्र मे नही मिले रहे। जिससे किसान मे भारी मायूसी व आक्रोश दिखा। 


छत्तीसगढ़ की सरकार किसानो का धान खरीदने के लिए एक दिसंबर 2020 से धान खरीदने की तिथि की घोषणा की थी लेकिन जनकपुर धान खरीदी समिति मे टोकन कटना तो दूर धान खरीदी अधिकारी ही नही मिल रहे। कांग्रेस सरकार द्वारा किसानों को परेशानी न हो इसके लिए कांग्रेस पार्टी के पदाधारियो का एक निगरानी समिति का गठन भी किया गया था। लेकिन उनमे से भी कोई सदस्य समिति मे नही दिखाई दिए। धान खरीदी केंद्र के नोडल अधिकारी आर पी खलखो जी धान खरीदी केंद्र में मिले तो मगर उनसे जब पूछा गया कि धान खरीदी केंद्र आखिर आज क्यों बंद है तो उनके द्वारा जवाब दिया गया कि मेरे को कोई जानकारी नहीं है।किसानो से पूछने पर पता चला की समिति के प्रबंधक व ऑपरेटर छुट्टी पर है। ऐसे मे धान खरीदी का प्रभार किस को दिया गया है यह किसानो को पता नही है  । जनकपुर समिति मे यह निश्चित है कि एक December को धान खरीदी नही हो रही है।  यदि प्रशासन तुरंत हरकत मे नही आती तो। किसानो की परेशानी जल्द निराकरण किया जाए ऐसा किसानो ने सरकार से अपील की है ।


इस मामले में एसडीएम भरतपुर  आर पी चौहान जी ने बताया कि बीते दिन हम लोगों ने धान खरीदी केंद्रों का निरीक्षण किया था जिसमें सब कुछ ठीक था। समय के रहते धान की खरीदी केंद्रों में ऑपरेटरों को भी नियुक्त कर दिया गया है। मगर फिर भी आज जनकपुर धान खरीदी केंद्र को बंद रखा गया है, इस मामले की जांच कर संबंधित कर्मचारियों पर कार्रवाई की जाएगी। और आज शाम से धान खरीदी हेतु टोकन वितरण किए जाएंगे।