breaking news New

इंदौर में भिक्षावृत्ति पर रोक लेकर दायर जनहित याचिका पर आज हुई सुनवाई

इंदौर में भिक्षावृत्ति पर रोक लेकर दायर जनहित याचिका पर आज हुई सुनवाई

इंदौर . मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय की इंदौर खंडपीठ ने कोरोना काल में शहर में जगह-जगह भिक्षावृत्ति करने पर रोक लगाने संबधी विषय पर दायर जनहित याचिका की आज सुनवाई की।

न्यायमूर्ति प्रकाश श्रीवास्तव और शैलेन्द्र शुक्ला की युगल पीठ ने आज राज्य शासन सहित जिले के पुलिस प्रशासन और नगर निगम से इस मुद्दे पर जवाब तलब किया है। याचिका की आगामी सुनवाई 5 जनवरी 2021 मुकर्रर की गई है। याचिका में प्रमुख सचिव नगरीय विकास एवं आवास विभाग मध्यप्रदेश, आयुक्त नगर निगम इंदौर और पुलिस उप महानिरीक्षक इंदौर को पक्षकार बनाया गया है।

05 अगस्त 2020 को दायर की गई इस याचिका में शहर में जगह-जगह भिक्षा मांग करने वाले भिक्षुकों से कोरोना संक्रमण फैलने की प्रबल आशंका व्यक्त की गई है। याचिका में कहा गया है कि भिक्षुक ट्रैफिक सिगनल,धार्मिक स्थलों और अन्य सार्वजनिक स्थानों पर सीधे नागरिकों के संपर्क में आते है और जबरिया भीख देने के लिए नागरिकों को विवश करते है, जिससे संक्रमण फैलाने का खतरा बना रहता है। याचिका में कहा गया है कि ऐसे सभी भिक्षुकों को चिन्हित कर इनका पुर्नवास किये जावे।