breaking news New

छत्तीसगढ़ में स्पंज आयरन एवं स्टील सेक्टरों के उद्योग के लिए भूपेश सरकार ने घोषित किए विशेष पैकेज

छत्तीसगढ़ में स्पंज आयरन एवं स्टील सेक्टरों के उद्योग के लिए भूपेश सरकार ने घोषित किए विशेष पैकेज

 छत्तीसगढ़ में स्पंज आयरन एवं स्टील सेक्टरों के उद्योग के लिए कांग्रेस की भूपेश सरकार ने घोषित किए विशेष पैकेज राज्य सरकार का सराहनीय कदम-राजीव

अल्ट्रा मेगा प्रोजेक्ट के निवेश पर 500 करोड़ का पैकेज देगी राज्य सरकार,भूपेश सरकार के इस निर्णय का स्पंज आयरन जगत के लोगों ने किया स्वागत और कहा भूपेश है तो भरोसा है-शर्मा

मुख्यमंत्री की मंशानुरूप बस्तर में स्टील उद्योग स्थापित करने के लिए राज्य सरकार 60 से 150 प्रतिशत फीसदी तक के छूट का एलान किया-राजीव शर्मा

 लॉकडाउन के विषम परिस्थितियों में भी चमका छत्तीसगढ़ का स्टील सेक्टर, सरकार की नई उद्योग नीति से स्पंज आयरन एशोसीएसन ने राज्य शासन का माना आभार.

जगदलपुर। राज्य सरकार के निर्णय से कोरोना संकटकाल में भी छत्तीसगढ़ में औद्योगिक विकास को गति मिली लॉकडाउन के दौरान जब देश में सब कुछ बंद था तब भी छत्तीसगढ़ में कोयला और लौह अयस्क की खदानें चालू रही यही वजह है कि लॉकडाउन के दौर में यहां अन्य राज्यों की तुलना में स्टील का उत्पादन सर्वाधिक रहा राज्य सरकार की नई औद्योगिक नीति के तहत अब इस्पात क्षेत्र के मेगा अल्ट्रा मेगा प्रोजेक्ट में निवेश करने के लिए विशेष निवेश प्रोत्साहन पैकेज देने का निर्णय लिया गया है राज्य के यशस्वी मुख्यमंत्री माननीय श्री भूपेश बघेल जी के नेतृत्व में सरकार में मेगा निवेशकों के लिए घोषित किए गए पैकेज में अधिकतम 500 करोड़ रुपए तक का निवेश प्रोत्साहन (बस्तर संभाग के लिए 1000 करोड़ तक) मान्य होगा,भूपेश सरकार के इस ऐतिहासिक निर्णय का स्वागत करते हुए जिला कांग्रेस कमेटी के संघर्षशील युवा अध्यक्ष राजीव शर्मा ने कहा कि सरकार ने कोर सेक्टर के उद्योगों को पूरे राज्य में बिजली शुल्क में छूट की पात्रता भी दी है बिजली में सब्सिडी मिलने से इस्पात सहित कोर सेक्टर के उद्योगों को नहीं संजीवनी मिली है राजीव शर्मा ने कहा कि राज्य के संवेदनशील मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के नेतृत्व में राज्य सरकार ने उद्योगों को बिजली दर में रियायत अनुदान सहायता विभिन्न स्वीकृति प्रदान करने की सरल और सुविधाजनक व्यवस्था के साथ स्थानीय उद्योगों के उत्पादों को प्राथमिकता देने जैसी कई संवेदनशील फैसलों ने छत्तीसगढ़ के उद्योग जगत के लिए मील का पत्थर बनकर संजीवनी का काम किया है कोविड-19 के दौर में पूरे देश में औद्योगिक गतिविधियां थमी हुई थी तब छत्तीसगढ़ के कोर सेक्टर के उद्योगों में उत्पादन जारी रहा कोर सेक्टर के अलावा अन्य उद्योगों में भी उत्पादन की गतिविधियां प्रारंभ हो चुकी थी जिस से प्रभावित होकर राज्य सरकार ने स्पंज आयरन एवं स्टील सेक्टर के उद्योगों के लिए राज्य सरकार ने विशेष पैकेज देने की घोषणा की राज्य सरकार के इस फैसले से बस्तर जैसे बीहड़ अंचलों में भी उद्योग की संभावनाएं दिखने लगी। गढ़त हे छत्तीसगढ़ बढ़त हे छत्तीसगढ़।