breaking news New

बिग ब्रेकिंग : शहीद जवानों का अपमान करने वाली लेखिका देशद्रोह के आरोप में गिरफतार, जवानों की शहादत पर की थी विवादित फेसबुक पोस्ट..पढ़िए विवादित टिप्पणी

बिग ब्रेकिंग : शहीद जवानों का अपमान करने वाली लेखिका देशद्रोह के आरोप में गिरफतार, जवानों की शहादत पर की थी विवादित फेसबुक पोस्ट..पढ़िए विवादित टिप्पणी

अनिल द्विवेदी

रायपुर. बीजापुर में हुए नक्सली हमले में 22 जवान शहीद हो गए थे जिसके बाद जवानों की शहादत पर पूरा देश शोकाकुल था तो गर्व भी कर रहा था वहीं कुछ लोग सरकार से नक्सलियों के खिलाफ एक्शन की मांग कर रहे हैं.

वहीं दूसरी ओर असम की एक 45 वर्षीय लेखिका ने जवानों की शहादत को लेकर फेसबुक पर विवादित पोस्ट किया जिसके बाद उसे देशद्रोह सहित कई अन्य आरोपों में गिरफ्तार कर लिया गया है.  शिखा सरमा ने फेसबुक पर लिखा कि, "वेतन लेने वाले पेशेवर लोग जो अपनी ड्यूटी के दौरान मारे जाते हैं उन्हें शहीद नहीं कहा जा सकता। अगर इसी लॉजिक से चलें तो बिजली विभाग के कर्मचारी, जो करंट लगने की वजह से मरते हैं उन्हें भी शहीद कहा जाा चाहिए। मीडिया लोगों को भावुक न बनाएं।"

इसके बाद बड़ी संख्या में लोगों ने उनका विरोध जताया था. सोमवार को गौहाटी हाईकोर्ट के दो वकीलों उमी डेका बरुआ और कंगकना गोस्वामी ने दिसपुर पुलिस स्टेशन में मामले के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई थी।  शिकायतकर्ताओं ने लिखा था कि शिखा के खिलाफ कड़ा एक्शन लेना चाहिए. यह हमारे सैनिकों के बलिदान का अपमान है। यह पोस्ट राष्ट्र की सेवा की भावना और पवित्रता पर मौखिक हमला है। दिसपुर पुलिस स्टेशन के प्रफुल्ल कुमार दास ने कहा कि मामला दर्ज कर लिया गया है और गिरफ्तारी की गई है।

दूसरी ओर गुवाहाटी के पुलिस कमिश्नर मुन्ना प्रसाद गुप्ता ने बताया कि लेखिका शिखा सरमा को विभिन्न धाराओं जिसमें देशद्रोह भी शामिल है, के तहत गिरफ्तार किया गया है।