breaking news New

IPL मैच के दौरान सट्टा पट्टी लिखने वाले 2 आरोपी को भखारा पुलिस ने रंगे हाथ पकड़ा

IPL मैच के दौरान सट्टा पट्टी लिखने वाले 2 आरोपी को भखारा पुलिस ने रंगे हाथ पकड़ा

धमतरी, 24 अक्टूबर। पुलिस अधीक्षक बी.पी. राजभानू द्वारा असामाजिक गतिविधियों में संलिप्त व्यक्तियों एवं आईपीएल मैच के दौरान सट्टा खिलाने वालों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही करने एवं उनके क्रियाकलापों पर प्रभावी अंकुश लगाने हेतु सभी थाना प्रभारियों को कड़े निर्देश दिए गए है। इस दौरान दिनांक 23.10.2020 के दरम्यानी रात्रि मुखबीर से सूचना मिली कि भखारा बस स्टैंड के पास स्थित डेली नीड्स की दुकान में आईपीएल क्रिकेट मैच में  हार-जीत पर रुपए का दांव लगाकर मोबाइल के माध्यम से सट्टा खिला रहे है।

उक्त सूचना पर पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा थाना प्रभारी भखारा कोमल नेताम के नेतृत्व में संयुक्त टीम गठित कर तत्काल सूचना की तस्दीक कर वैधानिक कार्यवाही करने निर्देशित किया गया। जिस पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती मनीषा ठाकुर रावटे के मार्गदर्शन में संयुक्त टीम द्वारा गवाहों को अपने साथ लेकर मुखबिर के बताएं स्थान पर पहुंचकर रेड कार्यवाही किया गया। 

घटनास्थल बस स्टैंड के पास स्थित मुकेश डेली नीड्स की दुकान में 02 व्यक्ति पुलिस को देखकर अपना मोबाइल छिपाने का प्रयास करने लगे जिनकी गतिविधियां संदिग्ध लगने पर पकड़कर पूछताछ किया गया तथा उनका मोबाइल चेक करने पर पाया गया कि दोनों व्यक्ति अपने मोबाइल के माध्यम से दिनांक 23.10.2020 को चेन्नई सुपर किंग्स विरुद्ध मुंबई इंडियंस के बीच चल रहे आईपीएल मैच में टीम के हार-जीत पर रुपये पैसों का दांव लगाकर व्हाट्सएप मैसेंजर के माध्यम से सट्टा खिलाते रंगे हाथ पकड़े गये। जिसके कब्जे से कुल 02 नग मोबाइल एवं नगदी रकम 24100/- रुपए को गवाहों के समक्ष विधिवत जप्त किया गया है। आरोपियों का कृत्य अपराध धारा 4(क) जुआ एक्ट का पाए जाने से मौके पर विधिवत गिरफ्तार कर वैधानिक कार्यवाही करते हुए आरोपियों के विरुद्ध अपराध पंजीबद्ध किया गया है।

 गिरफ्तार आरोपियों में धर्मेंद्र कुमार साहू पिता अनिल साहू उम्र 25 वर्ष, मुकेश निर्मलकर पिता कुमार निर्मलकर उम्र 23 वर्ष दोनों निवासी वार्ड क्रमांक 6 महावीर चौक भखारा, थाना भखारा जिला धमतरी के हैं। 

इस प्रकार पुलिस अधीक्षक धमतरी के निर्देशन एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक धमतरी के मार्गदर्शन में असामाजिक गतिविधियों में संलिप्त व्यक्तियों के विरुद्ध लगातार वैधानिक कार्यवाही की जा रही है, जो अनवरत जारी रहेगी।