breaking news New

लगातार मजबूत पलायन को लेकर नंदलाल मुरामी ने बताई सरकार की नाकामी

लगातार मजबूत पलायन को लेकर नंदलाल मुरामी ने बताई सरकार की नाकामी

दंतेवाड़ा, 2 जनवरी। विगत पखवाड़े पहले पलायन को लेकर जिला पंचायत अध्यक्ष तुलिका कर्मा ने खुद संज्ञान लेते रुकवाया था और उसी परिपेक्ष्य में सबकी जवाबदारी सुनिश्चित करने को कहा था। इस मामले में स्वतः जागरूक होकर जमीन में काम किये जाने, जन जागरण ,ग्राम स्तर में कार्यो की उपलब्धता, भुगतान की क्षेत्र की मांग अनुसार सुविधा आदि विषयों पर काम किया जाना चाहिए । साल के दूसरे दिन ही काकलुर क्षेत्र के लगभग 40 ग्रामीण काम के तलाश में आंध्र रवाना होने के लिए वाहन का इंतज़ार करते देखे गए ।गौरतलब है कि इन दिनों पंचायत सचिवों, रोज़गार सहायकों ने हड़ताल कर दी है इसका व्यापक असर पलायन के रूप में दिख रहा है ।


सरकारें इन क्षेत्रों में व्यवहार में काम न करके केवल आंकड़े ही गिनाते अपनी पीठ थपथपाती रहती हैं ।जमीनी हकीकत पंचायत सचिव, सरपंच, रोज़गार सहायक भली-भांति जानते भी हैं । गरीब मजदूरों को सप्ताह के अंत में भुगतान चाहिए होता है लेकिन मनरेगा का भुगतान कई माह बाद जारी होता है। इस प्रक्रिया से मजदूर सरकारी कार्यों के प्रति उदासीन होते हैं । समय पर नकदी भुगतान, मजदूरी में  बढ़ोतरी करके ही पलायन को रोका जा सकता है ।भाजपा नेता नंदलाल मुड़ामी ने मज़दूरों से बात करके कहा कि सरकार जो कहती हैं वह करती नहीं हैं अगर करती तो फिर ये पलायन क्यों?हज़ारों की संख्या में पलायन गंभीर मुद्दा है ।उन्होंने सरकार को इस मामले में जवाबदार होकर कार्य करने की सलाह दी ।