breaking news New

धुमकुड़िया उरांव आदिवासी युवा संगठन द्वारा विभिन्न स्कूलों में किया गया पौधरोपण

 धुमकुड़िया उरांव आदिवासी युवा संगठन द्वारा विभिन्न स्कूलों में किया गया पौधरोपण

बचेली -  हर साल 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता है। इसका मकसद है- लोगों को पर्यावरण की सुरक्षा के प्रति जागरूक और सचेत करना। प्रकृति बिना मानव जीवन संभव नहीं। इस दिवस के उपलक्ष में धूमकुड़िया उरांव आदिवासी युवा संगठन जिला दक्षिण बस्तर दंतेवाड़ा यूनिट के सदस्यों द्वारा प्रकृति के संरक्षण और संवर्धन के महत्व और उदेश्य को समझाने के लिए बचेली और किरंदुल के विभिन्न स्कूलों में वृक्षारोपण का कार्यक्रम किया गया,


जिसमे डी. एन.के.-2 स्कूल की प्रधान अध्यापिका श्रीमती ममता सिन्हा, सह अध्यापिका कु. अर्चना कुजूर, कन्या आश्रम, पीना बचेली की हॉस्टल अध्यक्षिका सुनीता नेताम, सह अध्यापिकाअंजु बारा,प्राथमिक शाला पाढ़ापुर संकुल-दुगेली की अध्यापिका  अनिस्ता तिर्की, गवर्नमेंट हायर सेकेण्डरी स्कूल, विदया नगर, किरंदुल प्रधान अध्यापक  राजेन्द्र सिंह चौहान, सह अध्यापिका कु. मंगरिटा टोप्पो, प्रकाश विद्यालय स्कूल, प्रधान अध्यापक  फिलिप सभी ने इस कार्यक्रम में भाग लिया। साथ ही इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए धूमकुड़िया उरांव आदिवासी युवा संगठन जिला दक्षिण बस्तर दंतेवाड़ा यूनिट के सदस्य . प्रशांत तिर्की,. संजय एक्का, कु. नेहा लकड़ा, कु. सोफिया तिर्की, कु. सुषमा एक्का, आश्रित केरकेट्टा, . सचिन तिर्की, आमोश एक्का द्वारा विशेष सहयोग दिया गया।