breaking news New

सक्ति थाना के आरक्षक पुष्पराज सिंह की मौत की CBI जाँच हो- तेजेंद्र तोड़ेकर

सक्ति थाना के आरक्षक पुष्पराज सिंह की मौत की CBI जाँच हो- तेजेंद्र तोड़ेकर


कुरुद। आम आदमी पार्टी यूथ विंग के प्रदेश अध्यक्ष तेजेंन्द्र तोड़ेकर ने कुरुद SDM को आरक्षक पुष्पराज सिंह की संदिग्ध मौत की जांच CBI से कराने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने नाम ज्ञापन सौंपा है साथ ही मंत्री ताम्रध्वज शाहू को कैबिनेट से बर्खास्त करने की मांग की है।

उन्होंने यह भी जानकारी दी कि  मृत आरक्षक के परिवार से आम आदमी पार्टी का 1 प्रतिनिधि मंडल ने मुलाकात की है उस मुलाकात के दौरान मृतक के पिता सीताराम और भाई जगदीप सिंह ने खुलकर आरोप लगाया कि चूँकि पुष्पराज ने विगत 1 पुलिस परिवार आंदोलन में सक्रिय भागीदारी निभाई थी इसके अलावा वे डिपार्टमेंट के अंदर भ्रष्टाचार को लेकर हमेशा भ्रष्ट पुलिस अधिकारियों के खिलाफ आवाज बुलंद करते रहते थे जिससे परेशान होकर वर्तमान एस पी, थाना प्रभारी सक्ति और SDO(P) ने पुष्पराज की हत्या का षड्यंत्र रचा।

मृतक परिजनों का कहना है कि वे पहले भी सोशल मीडिया में अपनी हत्या की आशंका जताते रहे हैं और हाल ही में वे पुलिस डिपार्टमेंट के बड़े भ्रष्टाचार को उजागर करने वाले थे।मृत्यु के एक दिन पहले भी वे परिवार से अपनी हत्या की आशंका जता चुके थे।
मृतक के भाई ने यह भी बताया कि पुष्पराज ने गत वर्ष कोरोना महामारी के दौरान अपने एक वर्ष का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में दान कर दिया था।


आम आदमी पार्टी के ललित नागरची कहा कि जो भी जानकारी पुष्पराज के बारे में मिल रही है उससे यह स्पष्ट होता है कि पुष्पराज न केवल ईमानदार,कर्तव्यनिष्ठ पुलिस कर्मचारी थे बल्कि सामाजिक रूप से भी सजग और जिम्मेदार व्यक्ति थे जिन पर सारे डिपार्टमेंट को गर्व होना चाहिए।पर पुलिस डिपार्टमेंट उनके परिजनों के आरोपों को दरकिनार कर मामले की लीपापोती में लग गई है।घटना की न्यायिक जांच होगी और जिन पुलिस अधिकारियों पर मृतक के परिवार ने गंभीर आरोप लगाए हैं अब भी अपनी जगहों पर बने हुए हैं और न्यायिक जाँच भी उन्हीं के माध्यम से होना है तो इससे सच्चाई कैसे सामने आएगी?
आम आदमी पार्टी यह मानती है कि अगर पुष्पराज की हत्या हुई है तो यह केवल एक पुलिस कर्मचारी की मौत नहीं है बल्कि यह ईमानदारी और सच्चाई की मौत है।
अतः आम आदमी पार्टी माननीय मुख्यमंत्री से मांग करती है कि अगर वे वास्तव में एक ईमानदार सरकार चला रहे हैं तो एक ईमानदार पुलिस कर्मचारी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत की निष्पक्ष जांच हेतु पहले एस पी, थाना प्रभारी,SDO(P) को निलंबित करें और जाँच के लिए केंद्र सरकार को पत्र लिखकर CBI जाँच की मांग करें।जबकि मृतक के परिजन भी महामहिम राज्यपाल से CBI जाँच की मांग कर चुके हैं।
आज पूरे प्रदेश में वर्चुअल प्रदर्शन किया गया ।
यह काम गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू जी को अब तक कर लेना था पर अपने ही अधीन डिपार्टमेंट में व्याप्त भ्रष्टाचार को नियंत्रित करने में उनकी असफलता एक तरह से भ्रष्टाचार का संरक्षण ही है अतः आम आदमी पार्टी यह भी मांग करती है कि उन्हें कैबिनेट से बर्खास्त किया जाए।