बीएसपी : भिलाई श्रमिक सभा का साप्ताहिक बैठक गूगल मीट पर संपन्न : बैक लाइन में बड़ी बड़ी झाड़ियां ड्रेनेज लाइन बंद

बीएसपी : भिलाई श्रमिक सभा का साप्ताहिक बैठक गूगल मीट पर संपन्न :  बैक लाइन में बड़ी बड़ी झाड़ियां  ड्रेनेज लाइन बंद

भिलाई । भिलाई श्रमिक सभा  एचएमएस यूनियन की साप्ताहिक बैठक गूगल मीट पर संपन्न हुई बैठक को संबोधित करते हुए उपाध्यक्ष दीपक मुदलियार ने कहा कि प्रबंधन द्वारा ई कयू3 के आवास भी कर्मचारियों के आवंटन हेतु इंटरनेट पर जारी किए जा चुके हैं यह प्रबंधन का स्वागत योग्य कदम है 1 माह पूर्व यूनियन द्वारा टाउनशिप के जीएम पी के घोष के साथ बैठक में आवास आवंटन हेतु कैटेगरी में बदलाव हेतु चर्चा हुई थी तथा उन्होंने आश्वासन भी दिया था लेकिन अभी तक परिवर्तन नहीं किया गया है एन क्यू वन के जर्जर आवास एवं अवैध कब्जे वाले आवासों को आवास आवंटन की सूची से बाहर किया जाना चाहिए यह आवास अनावश्यक रूप से सूची में दिए जाने के कारण सिर्फ आवासों की संख्या को बढ़ाते हैं।

 प्रवक्ता साजिद खान ने कहा कि आवासों का आवंटन ट्रेनीज को एन क्यू 2 आवास आवंटित किया गया था कर्मचारियों के रेगुलर होने के पश्चात भी उन्हीं आवासों को सब्जेक्ट वेकेशन के अंतर्गत आवंटन नहीं किया जा रहा है वर्तमान में आवासों की जर्जर स्थिति को देखते हुए इस नियम में परिवर्तन करने की आवश्यकता है उन आवासों को सब्जेक्ट वेकेशन में लेने के लिए कर्मचारी को S4 ग्रेड होने तक इंतजार करना होगा तब तक इन आवासों में अवैध कब्जा हो जाएगा।

 उप महासचिव डीके सिंह ने बैक लाइन की सफाई का मुद्दा उठाते हुए कहा कि यह कार्य पिछले 2 वर्षों से बंद कर दिया गया है स्ट्रीट लाइट का कार्य भी करोना महामारी के कारण नहीं किया जा रहा है। बैक लाइन में बड़ी बड़ी झाड़ियां उग आई हैं जो बढ़ती जा रही हैं इनकी जड़ों के बढ़ने से ड्रेनेज लाइन बंद हो जाती है बैक लाइन का कार्य तत्काल प्रारंभ किया जाना चाहिए एवं स्ट्रीट लाइट की मरम्मत का कार्य भी शुरू किया जाना आवश्यक है।

 सचिव अरुण चौबे का कहना है कि टारफेटलिंग की शिकायत किए हुए कर्मचारियों को 2 वर्ष तक हो चुके हैं आवासों में सीपेज की समस्या बनी हुई है टारफेटलिंग का कार्य बड़े पैमाने पर कराया जाना चाहिए तभी इस समस्या से निजात मिल सकेगा। 

वरिष्ठ सचिव बीजी कारे ने कहा कि कोविड-19 से बचाव हेतु कर्मचारियों को पूर्व में कुछ राशि दी गई थी वर्तमान में यह महामारी चरम पर है कोविड-19 से बचाव हेतु पुनः कुछ राशि प्रबंधन द्वारा कर्मचारियों को दी जानी चाहिए।

 उप महासचिव हेमंत महोबिया ने कहा कि कोविड-19 जो मरीज हॉस्पिटल में भर्ती हैं उन्हें बिना जांच के सात आठ दिन बाद डिस्चार्ज किया जा रहा है बीएसपी के आवास बहुत छोटे हैं संक्रमण की संभावना ज्यादा है सेक्टर 4 के हॉस्टल को क्वॉरेंटाइन सेंटर बनाया जाना चाहिए ताकि संक्रमण को रोका जा सके, यूनियन द्वारा पूर्व में भी इसकी मांग की जा चुकी है। महासचिव प्रमोद कुमार मिश्र ने डेली रिवॉर्ड स्कीम का मुद्दा उठाते हुए कहा कि पूर्व में लागू यह स्कीम काफी कारगर रही है इससे भी विभागों में प्रतिस्पर्धा से उत्पादन में अभूतपूर्व सफलता मिली थी इस स्कीम को पुनः लागू किया जाना चाहिए लेकिन स्कीम लागू करते समय लक्ष्य निर्धारण ऐसा किया जाए जिसे प्राप्त किया जा सके पूर्व में लागू डेली रिवॉर्ड स्कीम में कोकोवन के कर्मचारियों को 2 माह तक कोई लाभ नहीं मिला था क्योंकि लक्ष्य निर्धारण करते समय यह नहीं देखा गया था कि उपलब्ध संसाधन लक्ष्य को प्राप्त करने हेतु पर्याप्त नहीं है।