breaking news New

आचार्य राजेंद्र शर्मा द्वारा बिलासपुर में कृष्ण भक्तों श्रद्धालुओं को सुना रहे हैं ज्ञान की गंगा

आचार्य राजेंद्र शर्मा द्वारा बिलासपुर में कृष्ण भक्तों श्रद्धालुओं को सुना रहे हैं ज्ञान की गंगा

सक्तीl आचार्य राजेंद्र शर्मा द्वारा बिलासपुर में श्रीमद् भागवत के माध्यम से कृष्ण भक्तों व श्रद्धालुओं को ज्ञान की गंगा सुना रहे हैं। उन्होंने कहा कि श्रीमद् भागवत साक्षात भगवान श्री कृष्ण जी का वांग्मय स्वरूप है, और यही कली काल के दोषों को दूर करने के लिए इस संसार का सर्वश्रेष्ठ सत्कर्म है। 

भागवत की प्राप्ति किसी मनुष्य के केवल पुरुषार्थ के कारण ही नहीं बल्कि जन्म जन्मांतर के पुण्य अर्जित होने तथा भाग्योदय के कारण होता हैl यह वेदों का सार और सभी पुराणों का तिलक तथा वैष्णव का परम धन है।

भागवत कथा को केवल सुनने के लिए ही नहीं सुनना चाहिए, कथा से प्रेरणा एवं ज्ञान मार्ग का आश्रय लेकर अपने जीवन में परिवर्तन लाना ही तथा भगवत परायण बन्ना ही भागवत का मुख्य उद्देश्य है , यह उद्गार बिलासपुर गुलाब नगर में आयोजित श्रीमद् भागवत ज्ञान यज्ञ महोत्सव के प्रथम दिन व्यासपीठ से भागवत महात्मा का सरस वर्णन करते हुए प्रसिद्ध भागवताचार्य राजेंद्र महाराज ने प्रकट किया।

श्रीमद् भागवत का शुभारंभ भव्य कलश यात्रा के साथ हुआ नगर के अनेक श्रद्धालु माताओं ने सनातन धर्म के प्रतीक कलर्स को सिर पर धारण कर वरुण भगवान का आवाहन और पूजन कियाl प्रथम दिन आचार्य श्री द्वारा श्रीमद् भागवत की महत्ता तथा आवश्यकता, भक्ति देवी के दोनों पुत्रों ज्ञान और वैराग्य कि वृद्धावस्था से मुक्ति, धुंधकारी की प्रेत योनि से सद्गति कथा भागवत यज्ञ के महत्वपूर्ण नियमों को पालन करने की जानकारी प्रदान की गई।

प्रथम दिवस की कथा श्रवण करने कलेश्वर प्रसाद भगवती देवी, पद्मावती लक्ष्मी प्रसाद, अंजनी कपीश्वर राठौर, दुर्गावती भास्कर राठौर, ममता चंद्रपाल सिंह, अलका राकेश कुमार, मधु धनंजय कुमार, मंजू आशीष कुमार, अंजू प्रशांत कुमार, पति रंजीता सत्य प्रकाश आदि अनेक श्रोता उपस्थित थे l भागवत कथा के यजमान एवं आयोजक मथुरा देवी रामेश्वर प्रसाद , नंदिनी प्रदीप कुमार राठौर द्वारा अधिक से अधिक संख्या में कथा श्रवण करने की अपील की गई है।