breaking news New

किसानों को मुफ्त बिजली देने सेे कैप्टन हट रहे पीछे : बादल

 किसानों को मुफ्त बिजली देने सेे  कैप्टन हट रहे पीछे : बादल

चंडीगढ़।  शिरोमणि अकाली दल (शिअद) अध्यक्ष सुखबीर बादल ने आज आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह धान के मौसम में आठ घंटे अबाधित बिजली न देकर किसानों को मुफ्त बिजली देने की सुविधा देने से पीछे हट रहे हैं।

यहां जारी बयान में श्री बादल ने कहा कि फसल रिण माफी केे वायदे पर अमल से मुकरने के बाद मुख्यमंत्री ने अब एक तरह से किसानों को मुफ्त बिजली सुविधा देने से भी मुकर गये हैं क्योंकि धान मौसम में जब किसानों को बिजली की सर्वाधिक जरूरत होती है, आठ घंटे के बजाय मुश्किल से तीन से चार घंटे बिजली दी जा रही है।

उन्होंने कहा कि इससे किसानों को अपनी फसल बचाने के लिए डीजल जनरेटरों पर हजारों रुपये खर्च करने पड़ते हैं। श्री बादल ने आरोप लगाया कि कैप्टन सरकार ऐसा जानबूझकर कर रही है कि किसानों को मुफ्त बिजली देने पर प्रदेश बिजली इकाई को जो सब्सिडी का भुगतान करना पड़ता है, उससे बचा जा सके और सब्सिडी का बिल हल्का रहे।

श्री बादल ने कहा कि शिअद इस मुद्दे पर कल पीएसपीसीएल कार्यालयों के सामने विरोध प्रदर्शन करेगा।

श्री बादल ने आरोप लगाया कि सरकार औद्योगिक क्षेत्र से भी अन्याय कर रही है और अब उस पर दो दिवसीय आवश्यक छुट्टी थोपी गई है जबकि उद्योग जगत पहले से ही कोविड महामारी के प्रभाव से पटरी से उतरा हुआ है।

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि जब प्रदेश संकट में था, मुख्यमंत्री अपनी पार्टी में बगावत टालने के लिए कांग्रेसी नेताओं के लिए भोजन पार्टियों का आयोजन करने में लगे थे।