लॉकडाउन के बीच मजदूरों को गांव में ही मिला काम

लॉकडाउन के बीच मजदूरों को गांव में ही मिला काम

रायपुर।  कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए जारी लॉकडाउन के बीच राज्य सरकार द्वारा ग्रामीणों को रोजगार दिलाने, प्राकृतिक संसाधनो का  प्रबंधन  करने और आर्थिक रूप से समर्थ बनाने के उद्देश्य से मनरेगा के तहत कार्य उपलब्ध कराया जा रहा है। जिले के 165 ग्राम पंचायत में 340 कार्य प्रगति पर है जिसमें 9 हज़ार 828 लोगो को रोजगार मिल रहा है|यह कार्य सोशल डिस्टेंसिंग और सुरक्षा के निर्देशो का पालन करते हुए किया जा रहा है।

  आरंग विकासखंड के ग्राम मोखला में मनरेगा अंतर्गत कार्य कर रहे  पुरुषोत्तम,  रूखमणी,  रामकुमार,  अमरीका,  नीरा, नरेंद्र और कृष्ण कुमार ने कहा कि रबी फसल लेने तथा खेती-किसानी के कार्य समाप्त होने के बाद खेतिहर मजदूरों के पास कोई काम नही होता और आजीविका की समस्या खड़ी हो जाती है। पूरे देश में इस समय लॉकडाउन किया गया है। हम चाहकर भी किसी दूसरे काम मे नही जा सकते है। सरकार ने संवेदनशीलता से ग्रामीण मजदूरों के लिए गांव में ही काम दिलाया है। 

इसी तरह आरंग विकासखंड के ग्राम निसदा की  संतोषी, रूखमणी,  पूर्णिमा, श्रीमती सत्यवती,  दसोदा आदि ने संकट की इस घड़ी में सरकार द्वारा काम देने की तारीफ की। उन्होंने कहा कि ग्रामीण  मजदूरों के पास आर्थिक स्त्रोत के अन्य कोई साधन उपलब्ध नही होने से जीवन का गुजारा मुश्किल हो जाता। ऐसी विपरीत परिस्थिति में सरकार ने काम देकर ग्रामीण मजदूरों को बड़ा सहारा दिया है। सरकार ने काम के साथ-साथ दो माह का राशन भी निःशुल्क दिया  है। हम सभी सरकार द्वारा लिए गए निर्देशो  और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करेंगे, ताकि इनसे हम सभी को मुक्ति मिले।

ग्राम पंचायत में मजदूरों को मास्क का वितरण किया गया है और कार्य स्थल पर हाथ धुलाई कराते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन किया जा रहा है। वर्तमान में जल संरक्षण और जल संवर्धन संबंधी कार्य प्राथमिकता से कराए जा रहे हैं। इसके लिए निजी डबरी निर्माण, तालाब निर्माण, तालाब गहरीकरण और नाली सम्मिलित है। इसी तरह मुर्गी और बकरी शेड, कुंआ निर्माण, वर्मी टांका कार्य भी कराया जा रहा है ताकि ग्रामवासियो को रोजगार के साथ-साथ आजीविका भी सुनिश्चित हो सके।

  जिले में अभनपुर विकासखंड के 20, आरंग के 75 ,धरसींवा के 25 और जनपद पंचायत तिल्दा के 42 ग्राम पंचायत में कार्य प्रगति पर  है। वर्तमान वित्तीय वर्ष में हितग्राही मूलक कार्यों को प्राथमिकता देते हुए स्वीकृति जारी की गई है।इसके अतिरिक्त प्रत्येक ग्राम पंचायत में वित्तीय वर्ष 2019-20 के हितग्राही मूलक के 4869 के  कार्य प्राथमिकता से प्रारंभ कराये जा रहे हैै।

chandra shekhar