breaking news New

मनुष्य को देह धारण कर कलियुग को सतयुग में बदलना है

मनुष्य को देह धारण कर कलियुग को सतयुग में बदलना है


सक्ती। परमात्मा शिव बाबा मूल कर्तव्य मनुष्य देह धारण कर कलियुग को सतयुग में बदलना है यह बात आज 18 जनवरी ब्रम्हा बाबा के अव्यक्त दिवस पर बाबा ने अव्यक्त मुरली बताया। 

आज के ही दिन बाबा सम्पूर्ण स्थिति को प्राप्त होकर फरिश्ते बन आकारी रूप धारण कर सूक्ष्म वतन वासी हो गए थे जिनकी स्मृति दिवस को मनाने के लिए ब्रम्हाकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय- शक्ति कुंज, बाराद्वार रोड सक्ती में परमात्म मिलन कार्यक्रम आयोजित किया गया  जिज़में सुबह 06 योग, मुरली क्लास बाबा को भोग लगाया गया । 

साथ ही वरिष्ठ ब्रम्हाकुमारी दीदियों द्वारा ऑन लाइन क्लास के माध्यम ब्रम्हाकुमारी भैयि बहनों को साकार अनुभव से साक्षात्कार कराया गया।सायं 7 बजे से अव्यक्त बाप-दादा मिलन का कार्यक्रम रखा जिज़में भी दूर दराज गॉंवों से भैय्या  बहनें हाजिर रहे।

       कोविड प्रोटोकाल का सख्ती से पालन करते हुए ब्रम्हाकुमारी बहनों के द्वारा रखे गए सभी कार्यक्रमो में सभी ब्रम्हाकुमारी तुलसी बहन,मंजू बहन, शकुंतला बहन के सान्निध्य में नगर व गांव से पधारे भैयि बहनों ने भाग लिया।

केंद्र संचालिका तुलसी बहन ने बताया कि आगामी 20 जनवरी गुरुवार को प्रात: 10 बजे बाबा दिवस के साथ ही आजादी के अमृत महोत्सव से स्वर्णिम भारत की ओर... का शांति वन आबू रोड़ के डायमण्ड हाल में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के कर कमलों से वर्चुअल उद्घाटन किया जावेगा। 

 जिसका सीधा प्रसारण सभी सेंटरों में  होना है जिसे साक्षात अवलोकन करने अन्य सेंटरों के साथ शक्ति कुंज सेंटर सक्ती में भी व्यवस्था की गई है जिसमें सभी बी के भैया बहन से हाजिर रहने का आग्रह किया गया है।