breaking news New

प्रेमी ने प्रेमिका को लगाया सिंदूर और पेड़ पर फांसी लगा दे दी जान

प्रेमी ने प्रेमिका को लगाया सिंदूर और पेड़ पर फांसी लगा दे दी जान

सुरजपुर/ प्रेमनगर, 31 अक्टूबर। प्यार कभी जाति, मजहब को नहीं मानता है। प्यार को कोई भी समाज स्वीकार नहीं करता है। ऐसे ही एक प्रेमी और प्रेमिका ने समाज के डर से जंगल मे जाकर पेड़ में एक ही रस्सी से फांसी के फंदे में झूलते हुए शव बरामद हुई है। जिसे पुलिस ने उतरवाकर पीएम के उपरांत शव को परिजनों को सौंप दिया है। पुलिस मर्ग कायम कर मामले की जांच कर रही है। 

मिली जानकारी के मुताबिक जिले के प्रेमनगर थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम रामेश्वर नगर ( सोहर गड़ई ) निवासी बाबूलाल आत्मज स्वरूप जाति बिंझवार उम्र 20 वर्ष गाँव के ही युवती जिसका नाम चुनिता बरगाह आत्मज स्व अकालू जाति बारगाह, उम्र 19 वर्ष से युवक युवती का लम्बे समय से प्रेम था। प्रेमी और प्रेमिका 26 अकटुबर को दशई दशहरा त्यौहार मानने के नाम से घर से निकले थे। जो 27-28 अक्टूबर दो दिन घर नहीं आने को देख प्रेमिका के ताऊ को घर में चिंता सताने लगी युवती का ताऊ दुकालू अपने भतीजी को खोजते हुए प्रेमी युवक के घर गया वहां पतासाजी करने पर पता चला कि युवक और युवती दोनों दो दिनों से घर नहीं गए है। 

गाँव के ही एक युवक 29 अक्टूबर को समीप के युवक जंगल में भैंस चराने गया था कि तभी उसे बदबू के एहसास हुआ, बदबू आ रहे स्थान में देखा कि एक महुआ के पेड़ में एक ही रस्सी व एक ही डंगाल के में युवक और युवती के शव लटका हुआ है।

मौके पर सिंदूर मिले है। जिससे कयास लगाए जा रही है कि युवती के मांग में सिंदूर डालने के बाद दोनों ने आत्महत्या की है। आत्महत्या के कारण ढूंढने में पता चलता है कि युवती दो माह की गर्भ से थी। गर्भ ठहरने के कारण समाज की लज्जा, बहिष्कार के कारण दोनों ने अपनी जीवन लीला समाप्त करने का मन बनाया और आत्महत्या कर ली।