breaking news New

सकारात्मक सोच से बदला जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय का स्वरूप

 सकारात्मक सोच से बदला जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय का स्वरूप

रायगढ़ ।  कहते हैं जीवन में किसी भी लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए मेहनत से पहले सकारात्मक सोच, मजबूत इच्छाशक्ति, संकल्प, नवीन दृष्टिकोण व बौद्धिक संतुलन की आवश्यकता होती है, जिनके बल पर विपरीत हालातों में भी अपनी सकारात्मक सोच व प्रयासों द्वारा इच्छित लक्ष्य को प्राप्त किया जा सकता है। ऐसी ही सकारात्मक सोच, इच्छाशक्ति, मेहनत और कुछ बेहतर करने के जज्बे का परिणाम जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय रायगढ़ का वर्तमान व्यवस्थित सुसज्जित कार्यालय प्रांगण है, जहां आज से कुछ माह पूर्व एक पुराना भवन, झाडिय़ों से भरा एक बेतरतीब अव्यवस्थित गड्ढे नुमा परिसर था।

उल्लेखनीय है कि वर्तमान में जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय व प्रांगण का जो स्वरूप दिखाई दे रहा है, उस शासकीय भवन को कुछ वर्षों पूर्व वस्तुत: दिव्यांग बच्चों हेतु जिला रिसोर्स सेंटर के रूप में निर्मित किया गया था, जो शिक्षा विभाग का ही शासकीय भवन था। तात्कालीन मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत रायगढ़ द्वारा जिला पंचायत कार्यालय के बगल में ही दिव्यांग बच्चे हेतु एक जतन केन्द्र खोले जाने से शिक्षा विभाग के ही उक्त भवन में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना का कार्यालय लगना प्रारंभ हुआ था।

उक्त भवन में जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय के कुछ माह पूर्व स्थानांतरित होने की सबसे बड़ी वजह यह थी कि जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय इसके पहले कलेक्टोरेट परिसर में सर्व शिक्षा अभियान के प्रथम तल में एक हाल में संचालित हो रहा था। चूंकि शिक्षा विभाग में कई खंड व प्रभाग स्थानाभाव के कारण अन्य स्थानों पर संचालित हो रहे थे जिससे प्रशासनिक कार्यों के समन्वय में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था। ऐसी स्थिति में जिला शिक्षा विभाग को अपने व्यवस्थित कार्यालय की नितांत आवश्यकता महसूस हो रही थी।

चूंकि उक्त भवन शिक्षा विभाग का ही भवन था, ऐसे में कलेक्टर  भीम सिंह व मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत सु ऋचा प्रकाश चौधरी के प्रयासों से उक्त भवन में संचालित हो रहे पीएमजीएसवाई कार्यालय के अन्यत्र स्थानांतरित होने के पश्चात, उक्त शासकीय भवन में जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय रायगढ़ स्थानांतरित हुआ।

उल्लेखनीय है कि जिला शिक्षा कार्यालय जब यहां स्थानांतरित हुआ उस वक्त उक्त भवन व सम्मुख प्रांगण, उबड़ खाबड़ सतह, गड्ढों व झाडिय़ों से अटा पड़ा था। जिला शिक्षा अधिकारी  आर.पी.आदित्य ने अपनी सकारात्मक नई सोच, इच्छाशक्ति, संकल्प व स्वयं के निजी प्रयास व सहयोग से एक सुसज्जित व व्यवस्थित कार्यालय प्रांगण में तब्दील कर दिया। विदित हो कि नई जगह पर डीईओ  आर.पी.आदित्य द्वारा कलेक्टर  भीम सिंह से चर्चा उपरांत लगातार यह प्रयास किया जाता रहा था कि कार्यालय को किस प्रकार नया आकर्षक स्वरूप दिया जाए। डीईओ  आदित्य ने कार्यालय परिसर के चारों ओर व्यवस्थित सीमा रेखा निर्मित करते हुए प्रांगण में व्यवस्थित सायकल स्टैंड, फूलों, गमलों व क्यारियों से सुसज्जित गार्डन विकसित कर, बैडमिंटन कोर्ट निर्मित किया व प्रांगण को एक व्यवस्थित स्वरूप देकर उक्त कार्यालय स्थल का कायाकल्प कर दिया।

कलेक्टर  भीम सिंह व तत्कालीन सीईओ सु ऋचा प्रकाश चौधरी ने किया था यहां पौध रोपण

डीईओ के आमंत्रण पर नए कार्यालय के भ्रमण पर पहुंचे कलेक्टर  भीम सिंह व तत्कालीन सीईओ जिला पंचायत रायगढ़ सु ऋचा प्रकाश ने अल्प समय मे किए गए डीईओ के प्रयासों की मुक्त कंठ से प्रशंसा की थी और कार्यालय प्रांगण में अपने हाथों से गुलमोहर के और डीईओ आदित्य व डीएमसी देवांगन ने क्रिसमस ट्री का पौधा रोपित किया। कलेक्टर  भीम सिंह ने कार्यालय के समस्त स्टाफ  से इस आकर्षक परिवर्तन की चर्चा भी की। डीईओ कार्यालय प्रांगण में हुए वृक्षारोपण के दौरान कलेक्टर  भीम सिंह के साथ सीईओ जिला पंचायत सु ऋचा प्रकाश चौधरी, जिला पंचायत अध्यक्ष  निराकार पटेल, डीईओ  आर.पी.आदित्य, डीएमसी  रमेश देवांगन, सहायक संचालक शिक्षा  के.के. स्वर्णकार,  दीप्ती अग्रवाल, सु तरसेला एक्का, साक्षरता मिशन के  डी.के.वर्मा सहित डीईओ कार्यालय के समस्त स्टाफ  उपस्थित थे।

वर्तमान सीईओ डॉ रवि मित्तल ने किया बैडमिंटन कोर्ट का शुभारंभ

शिक्षा विभाग के इस नए कार्यालय में भ्रमण पर पहुंचे वर्तमान सीईओ जिला पंचायत रायगढ़ डॉ.रवि मित्तल ने जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय रायगढ़ में निर्मित बैडमिंटन कोर्ट का 3 दिसम्बर 2021 को शुभारंभ किया। कार्यालय प्रांगण की खूबसूरती और चाक चौबंद व्यवस्था को देखकर उन्होंने इच्छा व्यक्त करते हुए कि जिला शिक्षा कार्यालय प्रांगण में निर्मित इस बैडमिंटन कोर्ट पर भविष्य में विभागीय कर्मचारियों की खेल प्रतियोगिता भी आयोजित की जानी चाहिए।