breaking news New

केंद्रीय मंत्रिमण्डल विस्तार..पीएम नरेन्द्र मोदी ने मंत्रियों के कार्यकाल का प्रेजेंटेशन लिया..खराब प्रदर्शन वाले मंत्री बदले जा सकते हैं या संगठन में भेजे जाएंगे..छत्तीसगढ़ से यह हैं समीकरण

केंद्रीय मंत्रिमण्डल विस्तार..पीएम नरेन्द्र मोदी ने मंत्रियों के कार्यकाल का प्रेजेंटेशन लिया..खराब प्रदर्शन वाले मंत्री बदले जा सकते हैं या संगठन में भेजे जाएंगे..छत्तीसगढ़ से यह हैं समीकरण

जनधारा समाचार
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने सरकारी आवास पर अभी रात को केंद्रीय मंत्री अमित शाह, राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ बैठक कर रहे हैं। माना जा रहा है कि यह बैठक केंद्रीय मंत्रिमंडल में संभावित फेरबदल और अन्य मंत्रियों के आकलन के लिए हो रही है।


पिछले दिनों शिवसेना और अकाली दल ने एनडीए को छोड़ दिया है। उसके बाद कुछ नेताओं ने मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया और कुछ मंत्रिओं की मौत हो गई। ऐसे में अटकलें लगाई जा रही हैं कि इस मंत्रिमंडल विस्तार में उत्तर प्रदेश, बिहार, उत्तराखंड, असम आदि राज्यों के कुछ नेताओं को जगह को मिल सकती है। एनडीए के कुछ सहयोगियों को भी जगह मिल सकती है। वहीं कुछ मंत्रियों को कैबिनेट से हटाकर संगठन में भेजा सकता है।

केंद्रीय मंत्रिमंडल में फेरबदल की अटकलों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इससे पहले शुक्रवार को गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा के साथ बैठक की थी। यह बैठक प्रधानमंत्री आवास पर हुई थी। इसके बाद शनिवार को केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, नरेंद्र सिंह तोमर, गजेंद्र सिंह शेखावत, महेंद्र नाथ पांडे, हरदीप पुरी और वीके सिंह ने अपने-अपने मंत्रालयों का प्रजेंटेशन दिया था और उनके काम की समीक्षा की।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के राष्ट्रीय राजधानी के दो दिवसीय दौरे के दौरान भाजपा के शीर्ष नेताओं से मुलाकात के बाद उत्तर प्रदेश में भी मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर भी चर्चा बढ़ गई हैं। हालांकि, सूत्रों ने कहा कि मोदी कई बार केंद्रीय मंत्रियों से मिलते रहे हैं और नड्डा भी वहां मौजूद रहे हैं। भाजपा इन दिनों विभिन्न राज्यों में अपने संगठन और सरकारी कार्यों की समीक्षा में जुटी है।

वहीं, हाल ही में नड्डा ने पार्टी महासचिवों के साथ एक बैठक भी की थी, जहां पार्टी द्वारा कोरोना महामारी के दौरान किए गए राहत कार्यों के अलावा, हाल के विधानसभा चुनावों में इसके प्रदर्शन की समीक्षा की गई थी।

जहां तक छत्तीसगढ़ का सवाल है, फिलहाल किसी चेहरे पर चर्चा नही हुई है लेकिन जरूरी हुआ तो राज्यसभा सांसद सरोज पाण्डे, सांसद संतोष पाण्डे, सांसद सुनील सोनी की लॉटरी लग सकती है. वर्तमान में राज्य के कोटे से केंनद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंग को रिप्लेस भी किया जा सकता है.

जहां तक छत्तीसगढ़ का सवाल है, फिलहाल किसी चेहरे पर चर्चा नही हुई है लेकिन जरूरी हुआ तो राज्यसभा सांसद सरोज पाण्डे, सांसद संतोष पाण्डे, सांसद सुनील सोनी की लॉटरी लग सकती है. वर्तमान में राज्य के कोटे से केंनद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंग को रिप्लेस भी किया जा सकता है.