breaking news New

प्रधानमंत्री ने कहा गन्दी राजनीति से बाहर निकले लोग : पुलवामा हमला भारत माता के सीने में एक घाव, जिसे देश अभी तक भूला नहीं

प्रधानमंत्री ने कहा गन्दी राजनीति से बाहर निकले लोग  :  पुलवामा हमला भारत माता के सीने में एक घाव, जिसे देश अभी तक भूला नहीं

अहमदाबाद। पाकिस्तानी संसद में पुलवामा हमले को लेकर पीएम इमरान के मंत्री के कबूलनामे के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहली बार प्रतिक्रिया दिया  है।  प्रधानमंत्री ने  कहा कि पुलवामा हमले में  देश के 40 जवान शहीद हुए थे।  उस शहादत को देश अभी तक भूला नहीं है। इस दुखद घटना के बावजूद  उस वक्त भी कुछ लोग राजनीति कर रहे थे. ऐसे लोगों को देश भूल नहीं है। 

जानकारी के मुताबिक  जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी 2019 को सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमला किया गया था. एक आत्मघाती हमलावर ने विस्फोटक से भरी कार सीआरपीएफ के काफिले से टकरा दी थी. इस धमाके में 40 जवान शहीद हो गए थे. 

पीएम ने कहा कि उस वक्त वे सारे आरोपों को झेलते रहे, भद्दी भद्दी बातें सुनते रहे. इस घटना को भूला नहीं जा सकता पीएम ने कहा मेरे दिल भी में गहरा घाव था।   लेकिन पिछले दिनों पड़ोसी देश से जिस तरह से खबरें आई है, जो उन्होंने स्वीकार किया है, इससे इन दलों का चेहरा उजागर हो गया है. 

पीएम ने कहा, "जिस प्रकार वहां की संसद में सत्य स्वीकारा गया है, उसने इन लोगों के असली चेहरों को देश के सामने ला दिया है. अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए, ये लोग किस हद तक जा सकते हैं, पुलवामा हमले के बाद की गई राजनीति, इसका बड़ा उदाहरण है." 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सरदार पटेल की दुहाई देते हुए राजनीतिक दलों से कहा कि मैं ऐसे राजनीतिक दलों से आग्रह करूंगा कि देश की सुरक्षा के हित में, हमारे सुरक्षाबलों के मनोबल के लिए, कृपा करके ऐसी राजनीति न करें। वहीं फ्रांस में कार्टून विवाद के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुछ देशों की ओर इशारा करते हुए कहा कि प्रगति के इन प्रयासों के बीच, कई ऐसी चुनौतियां भी हैं जिसका सामना आज भारत, और पूरा विश्व कर रहा है.