breaking news New

एक वर्ष पूर्व ख़रीदी 17 लाख की मशीन कबाड़ के रूप में तब्दील

एक वर्ष पूर्व ख़रीदी 17 लाख की मशीन कबाड़ के रूप में तब्दील

*मशीनों की क़ीमत 17 लाख ,परंतु चालू भी नहीं की जा सकी *
नारी सशक्तिकरण के नाम पर, महिलाओं का हो रहा है दोहन
मशीन तथा डस्टबिन सप्लाई करने वाला सप्लायर एक ,ब्लैक लिस्टेड करने की जगह किया जा रहा है उपकृत
केंद्र के पैसों का हो रहा है बंदरबांट
संजय पाण्डेय नेता प्रतिपक्ष




जगदलपुर . भारतीय जनता पार्टी पार्षदों द्वारा गत दिवस सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के अन्तर्गत सालिड लिक्विड  रिसोर्स मैनेजमेंट एसएलआरएम सेंटरों का निरीक्षण किया गया ! केंद्र सरकार की अत्यंत महत्वाकांक्षी योजना स्वच्छ भारत मिशन के तहत सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के अंतर्गत (अधिनियम 2016-17) नगर निगम जगदलपुर हेतु दस नग SLRM सेंटर स्वीकृत किए गए थे जो की वर्तमान में भवन एवं शेड पूर्ण होकर अभी आठ सेंटरों में कार्य किया जा रहा है ! भाजपा पार्षदों ने इन सेंटरों में अनेक अनियमितता पायी हैं और निगम का ध्यानाकर्षण करने हेतु महापौर और आयुक्त को पत्र लिखकर गंभीर आरोप लगाए है !
महापौर के नाम लिखे पत्र में कहा गया है कि केंद्र सरकार की महती योजना के तहत मिशन क्लीन सिटी के माध्यम से शहर के प्रत्येक घरों से निकलने वाले दैनिक कचरा को बायोडिग्रेवल गीला जैविक कचरा से खाद बनाकर तथा अन्य नानडिग्रेवल सूखा कचरा को कबाड़ अथवा प्लास्टिक ग्रेनुअल्स बनाकर ,मिशन क्लीन सिटी के अंतर्गत महिला स्व सहायता समूह के द्वारा लगभग 275 महिलाओं को आय के साधन उत्पन्न करना ,महिला सशक्तिकरण ,समूह गठन से सहकारिता एवं स्वावलंबी जीवन बनाना तथापि शहर को शत
प्रतिशत साफ़ एवं स्वच्छ रखना, इस योजना का उद्देश्य है !
नेता प्रतिपक्ष पांडे ने बताया कि इसी योजना के तहत SLRM सेंटरो हेतु मिशन क्लीन सिटी अंतर्गत केंद्र सरकार की चौदहवें वित् आयोग मद से बेलिंग मशीन २ नग ,जिससे सूखे कचरे को इस मशीन द्वारा कम्प्रेस्ड कर कंप्रेस्ड ईट जोकि आकार में बहुत छोटा होकर ट्रांसपोर्ट हेतू आसान हो जाता है,एवं फटका मशीन 4 नग जिससे सूखे कचरे को सेंट्रीफ्यूगल विधि से सफ़ाई किया जाता है, गत एक वर्ष पूर्व क्रय किया गया है !लगभग 17 लाख रुपये ख़र्च कर एक वर्ष पूर्व क्रय की गई यह मशीन आज पर्यंत तक शुरू नहीं की जा सकी है ! आज यह 17 लाख की मशीनें सेंटरों में धूल खा रही है ,तथा मुझे ज्ञात हुआ है कि यह मशीनें भी कबाड़ मात्र हैं !यह जहाँ जनता के पैसे का दुरुपयोग है वहीं यह मिशन क्लीन सिटी के तहत कार्यरत महिलाओं को भी उनकी होने वाली आय से वंचित करती है!
इसी प्रकार सभी  सेंटरों हेतु तो दस इंसीलेटर मशीन क्रय की गई हैं,जिससे बायोमेडिकल वेस्ट जैसे हगिस, पैड, ब्लड स्टेम,बैंडेज इत्यादि नष्ट किया जाता है ,वह सभी दस नग इनसिलेटर ख़राब पड़ी हैं ! जिसके कारण बायोमेडिकल वेस्ट खुले में फेंका जा रहा है जिससे तमाम बीमारी फैलने का ख़तरा हमेशा रहता है !

संजय पांडे ने आरोप लगाते हुए कहा है कि इस प्रकार शासन की योजना का उद्देश्य पूरा होता नहीं दिखता बल्कि भ्रष्टाचार से स्व की आय में वृद्धि होना स्पष्ट दिखता है !भाजपा पार्षदों को ज्ञात हुआ है की बेलिंग मशीन तथा फटका मशीन जिस सप्लायर से क्रय किया गया है उसी सप्लायर द्वारा अत्यंत गुणवत्ता विहीन डस्टबिन की भी सप्लाई की गई है ! शहर की जनता जानना चाहती है कि क्यों एक ही सप्लायर जो की लगातार घटिया सामग्री सप्लाई कर रहा है उसे ब्लैक लिस्टेड करने की बजाए ,उसे उपकृत किया जा रहा है !आपके द्वारा निगम क्षेत्र में निरीक्षण करने लगातार अख़बारों में ख़बरें प्रकाशित की जाती हैं तथा आपके संज्ञान में यह अनियमितताएं नहीं छुपी रह सकती हैं ! परंतु निगम की सबसेमहत्वपूर्ण ज़िम्मेदारी आप पर होने पर भी आपकी चुप्पी एवं सप्लायर वह सम्बंधितों पर कार्यवाही न करना प्रश्नचिन्ह है एवं निगम में हो रहे भ्रष्टाचार को सिद्ध करता है !!
निरीक्षण के दौरान नेता प्रतिपक्ष के साथ भाजपा पार्षद राजपाल कशेर,महेंद्र पटेल ,शंभु नाग, श्रिस मिश्रा इत्यादि थे !!