breaking news New

मित्तल अस्पताल : प्रशासन कर सात दिन के अंदर कार्यवाही नहीं तो होगा आंदोलन

मित्तल अस्पताल : प्रशासन  कर सात दिन के अंदर कार्यवाही नहीं तो होगा आंदोलन

भिलाई, 24 अक्टूबर। स्वाभिमान पार्टी के नेताओं ने भिलाई के नेहरू नगर स्थित मित्तल अस्पताल के विरुद्ध अवैध तरीके से कोरोना वायरस संक्रमण इलाज के नाम पर लाखों रुपए की ठगी करने के मामले में विगत दिनों शिकायत की थी। जिस पर कार्यवाही करते हुए जिला प्रशासन ने तीन सदस्यीय डॉक्टरों की एक समिति का गठन मित्तल अस्पताल के विरुद्ध जांच करने के लिए किया था। 7 दिनों से ज्यादा का समय बीत जाने के बावजूद जांच में किसी प्रकार की कोई प्रगति न होने के कारण आज स्वाभिमान पार्टी के नेता सतीश कुमार त्रिपाठी, थनेंद्र साहू, ओंकार ताम्रकार, संतोष विश्वकर्मा और रामचरण साहू का प्रतिनिधिमंडल मुख्य चिकित्सा अधिकारी से मुलाकात करने पहुंचा। 

सतीश त्रिपाठी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को बताया कि उन्होंने यह स्पष्ट किया था कि यदि 7 दिनों के भीतर कुछ कार्यवाही नहीं की गई तो धरना और प्रदर्शन और आंदोलन किया जाएगा। मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा इस विषय पर अब तक क्या कार्यवाही की गई है, उसकी जानकारी दें। मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी गंभीर सिंह ठाकुर ने इस विषय पर सिर्फ इतना ही बताया कि 3 सदस्यीय जांच कमेटी बनी है लेकिन कार्यवाही या किसी प्रकार की जांच अभी तक नहीं हुई है। बातें करते समय तत्काल उन्होंने फोन पर अपने लोगों से जांच की कार्यवाही आगे बढ़ाने के लिए कहा।

स्वाभिमान पार्टी के नेताओं ने स्पष्ट कहा है कि यदि इस विषय में ढिलाई बरती गई और जल्द से जल्द जांच कर पीड़ित परिवारों को अवैध तरीके से लूटी गई रकम वापस नहीं की जाती है तो न सिर्फ मित्तल अस्पताल का लाइसेंस निरस्त करने की मांग और आंदोलन होगा बल्कि मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी के विषय में भी मिलीभगत का प्रश्न चिन्ह लगेगा। पार्टी के नेताओं ने बयान जारी कर कहा है कि वह अभी कुछ दिन और इंतजार कर रहे हैं। कार्यवाही संतोषजनक ना होने की स्थिति में तमाम सरकारी अधिकारियों के तबादले के लिए भी आंदोलन किया जाएगा।