breaking news New

फर्जीवाड़ा : आईडीबीआई बैंक में खुला फर्जी खाता, पत्नी की मिलीभगत की आशंका, पति ने लगाया गंभीर आरोप, बैंक नही बता रहा सच्चाई

फर्जीवाड़ा : आईडीबीआई बैंक में खुला फर्जी खाता, पत्नी की मिलीभगत की आशंका, पति ने लगाया गंभीर आरोप, बैंक नही बता रहा सच्चाई

जनधारा समाचार
रायपुर. बोरसी दुर्ग के निवासी एक शख्स ने अपनी पत्नी पर बैंक कर्मियों के साथ मिलकर पति के नाम से फर्जी बैंक खाता खोलने तथा उसमें एक लाख रूपये जमा करने का गंभीर आरोप लगाया है. पति ने इसे अपना खाता होने से इंकार किया है और बैंक की मुंबई शाखा में आरटीआई लगाकर बैंक खाते के संबंध में जानकारी मांगी तो वह भी नही दी गई है.


पुणे में रहकर जॉब कर रहे शिकायतकर्ता ए.गोविंद राजू ने बताया कि कोरोना महामारी के पहले तक वह पुणे में रहकर आईटी का जॉब करता था. इसी दौरान उसका विवाह भिलाई निवासी महिला सना सोनल होफमेन से हुई और दोनों ने शादी कर ली. कुछ दिन बाद पति—पत्नी विदेश चले गए तथा वहां भी जॉब करते रहे लेकिन पत्नी अपने पिता की देखभाल करने का बहाना बनाकर विदेश से वापस भिलाई आ गई.

उधर कोरोना महामारी की समस्या बढ़ी तो शिकायतकर्ता ए.गोविंद राजू विदेश से भारत लौट आए और बोरसी दुर्ग में रहने लगे. कुछ दिनों बाद दंपत्ति पुन: पुणे गए और साथ रहने लगे. इसी बीच पत्नी श्रीमती सना सोनल होफमेन से रिश्ते बिगड़ते चले गए. एक दिन पत्नी ने अचानक एक कागजात दिखाते हुए उसमें हस्ताक्षर करने को कहा तो पता चला कि वह आईडीबीआई बैंक के एकांउट का फार्म था जिससे पत्नी को कुछ राशि निकालनी थी. इस पर शिकायतकर्ता ए.गोविंद राजू अवाक रह गए. उन्होंने कहा कि मैंने कभी इस बैंक में एकाउंट नही खुलवाया, फिर यह ट्रांजेक्शन कैसे हो रहा है लेकिन पत्नी ने कुछ भी जवाब नही दिया.

नोटबंदी के समय खोला गया खाता

शिकायतकर्ता ए.गोविंद राजू ने खोजबीन की तो पता चला कि आईडीबीआई बैंक की आइआइएम रायपुर ब्रांच में उसके नाम से एक एकांउट नं 1292104000007504, गुजरे 17 जनवरी 2017 को खोला गया जिसमें 1,10,248 लाख की राशि जमा की गई है. यह वही समय है जब देश में नोटबंदी लागू हुई थी. शिकायतकर्ता ने इसे अपना एकाउंट और राशि होने से साफ इंकार किया है. उन्होंने आईडीबीआई बैंक के मैंनेजर और मुंबई ब्रांच को दो पत्र भी लिखे तथा बैंक एकांउट की जानकारी मांगी, आरटीआई का भी इस्तेमाल किया मगर जानकारी नही दी गई.

पत्नी पर है आशंका

श्री राजू ने जब आईडीबीआई बैंक पहुंचकर जानकारी मांगनी चाही तो बैंक मैनेजर उन्हें घुमाते रहे. शिकायतकर्ता ए.गोविंद राजू को शक है कि उनकी पत्नी के साथ मिलकर किसी शख्स ने आईडीबीआई बैंक में उनके नाम से फर्जी एकाउंट खोला है और उसमें एक लाख से ज्यादा की राशि जमा की है. उन्होंने पत्नी से भी पूछताछ की लेकिन टालमटोल होता रहा. शिकायतकर्ता को शक है कि आईडीबीआई बैंक के किसी कर्मचारी ने पत्नी सना सोनल होफमेन के साथ मिलकर यह खाता खुलवाया है जिसमें ट्रांजेक्शन भी जारी है. हालांकि शिकायतकर्ता राजू के पारिवारिक संबंधों में भी तनाव चल रहा है. उन्हें शक है कि इस फर्जी खाते का इस्तेमाल करके उनके विरूद्ध कानूनी षडयंत्र रचा जा सकता है इसलिए वे एफआईआर कराना की तैयारी में हैं.