breaking news New

बेहतर कल के लिए अधिक स्वच्छता : पदयात्रा एवं श्रमदान कर दिया स्वच्छता का संदेश

बेहतर कल के लिए अधिक स्वच्छता : पदयात्रा एवं श्रमदान कर दिया स्वच्छता का संदेश


हेमन्त मिश्रा

आजादी के अमृत महोत्सव के तहत जनप्रतिनिधि समेत बड़ी संख्या में पहुँचे छात्र-छात्राएं एवं आमजन

बलौदाबाजार। आजादी के 75 वी वर्षगांठ के मौके पर पूरे देश एवं प्रदेश में आजादी के अमृत महोत्सव के तहत विविध कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। इस तारतम्य में आज जिला प्रशासन द्वारा राज्य के ऐतिहासिक धरोहर श्री राम वन पथ गमन मार्ग में विकासखंड कसडोल अंर्तगत ग्राम नंदनिया से परसदा तक पद यात्रा एवं तुरतुरिया में सामुहिक श्रमदान कर स्वच्छता का संदेश दिया गया।

कार्यक्रम में बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि गण स्काउट गाईड एनसीसी राष्ट्रीय सेवा योजना के छात्र-छात्राएं,आमजन एवं प्रशासनिक अधिकारी कर्मचारी सम्मलित हुए। कार्यक्रम में विशेष रूप से कसडोल विधायक शकुंतला साहू,छत्तीसगढ़ कृषक कल्याण परिषद के अध्यक्ष सुरेंद्र शर्मा,पाठ्य पुस्तक निगम अध्यक्ष  शैलेष नितिन त्रिवेदी,जिलाध्यक्ष हितेंद्र ठाकुर,कसडोल नगर पंचायत अध्यक्ष नीलू चंदन साहू,उपाध्यक्ष ऋत्विक मिश्रा,जनपद अध्यक्ष पलारी खिलेंद्र वर्मा,कलेक्टर सुनील कुमार जैन,पुलिस अधीक्षक आई के एलेसेला,डीएफओ विश्वेष कुमार,अपर कलेक्टर राजेंद्र गुप्ता,जिला पंचायत सीईओ डॉ फरिहा आलम सिद्की,पूर्व नगर पंचायत पलारी अध्यक्ष गोपी साहू,नीरेन्द्र क्षत्रिय रूपेश ठाकुर, मनोज प्रजापति,सुभाष राव,खिलावन डहरिया समेत गांव के सरपंच सचिव अनेक जनप्रतिनिधि गण उपस्थित रहें।


ग्राम नंदनिया से परसदा तक लगभग 1किलोमीटर पद यात्रा के दौरान छात्र छात्राओं ने स्वच्छता के नारे लगाएं। उसी तरह तुरतुरिया में मंदिर परिसर से लेकर आस पास मैदानो में जनप्रतिनिधियों, महिला स्व सहायता समूह के महिलाओ द्वारा श्रमदान किया। सभी ने बढ़चढ़ कर परिसर में फैले हुए पालीथीन,डिस्पोजल को उठाकर व्यवस्थित जगह में डंप किए।

कॉलेज के एनएसएस छात्रों ने पर्यटकों को स्वच्छता के बारे में आवश्यक जानकारी दी गयी। कलेक्टर  जैन ने कार्यक्रम के संबंध में जानकारी देतें हुए कहा की आजादी का अमृत महोत्सव तभी सफल होगा जब हम सभी मिलकर स्वच्छता पर ध्यान देंगे। कोविड ने स्वच्छता के बारे में हम सब को बहुत कुछ सिखाया है। पर हमें बेहतर कल के लिए अधिक स्वच्छता के साथ रहना होगा। 

उन्होंने आगें कहा की तुरतुरिया प्रदेश के प्रमुख आस्था का केंद्र है। इसकी स्वच्छता की जिम्मेदारी हम सब की है। यहां आने वाले पर्यटक स्वच्छता पर भी ध्यान देवे इसलिए इस जगह का चयन कार्यक्रम के लिए किया गया था। इस मौके पर वन,पंचायत,राजस्व,नगरीय प्रशासन, महिला बाल विकास विभाग के कर्मचारियों समेत सभी विभागों के जिला प्रमुख उपस्थित रहें।