breaking news New

दुर्ग जिला पंचायत परिसर में बिहान मेले का आयोजन

दुर्ग जिला पंचायत परिसर में बिहान मेले का आयोजन

महिला समूहों को अपने परंपरागत व्यवसाय को स्थापित करने के लिए मिल रहा है प्लेटफार्म

दुर्ग, 5 नवंबर। राज्य शासन द्वारा प्रदेश की सांस्कृतिक विरासत, संस्कृति, परंपरा को स्थापित करने का कार्य किया जा रहा है। इस दिशा में महिला स्व सहायता समूह सक्रियता के साथ मुख्य भूमिका निभा रही हैं। राज्य शासन की अति महत्वकांक्षी योजना नरवा, घुरवा बाड़ी के अंतर्गत महिला समूहों को अवसर मुहैया कराकर राज्य की संस्कृति को बढ़ावा दिया जा रहा है। 

गौठान से निकले गोबर से अनेक प्रकार के उत्पाद बनाए जा रहे हैं। इसके अलावा छत्तीसगढ़ी व्यंजनों को भी बढ़ावा दिया जा रहा है। इसके लिए महिला समूहों को बिहान मेले के माध्यम से बाजार उपलब्ध कराया जा रहा है। जिसके माध्यम से महिला समूह व्यवसाय कर रही है। इसी दिशा में दुर्ग के जिला पंचायत भवन परिसर में बिहान मेले का आयोजन किया गया है। बिहान मेले में जिले के कई महिला समूहों द्वारा छत्तीसगढ़ी व्यंजनों का स्टाल लगाया गया है। 

बिहान मेले में गोबर से बने पंचगव्य दिये का विक्रय किया जा रहा है। ये दिये जिले के महिला स्व सहायता समूह द्वारा तैयार किया जा रहा है। समूहों के द्वारा मोमबत्ती, रुई की बत्ती, ग्लिसरीन साबुन, हर्बल हैंड वॉश और छत्तीसगढ़ी व्यजंन जैसे अनरसा, गुझिया, खुरमी, ठेठरी  का भी विक्रय किया जा रहा है।

यहां मेले में आयी दुर्ग के ग्राम पंचायत महमरा के मां परमेश्वरी स्व सहायता समूह की संचालिका बबीता देवांगन ने बताया कि उनके समूह में 15 महिलाएं जुड़ी है और मांग के अनुसार घर में ही सामग्री तैयार की जा रही है। समूह के द्वारा गोबर के दियें के अलावा धनिया, मिर्च और हल्दी के पाउडर के साथ फ्लोटिंग कैंडल आदि का भी निर्माण किया जा रहा है। इसी प्रकार शिवम स्व सहायता समूह, दरबार मोखली की पुष्पा देवी के अनुसार उनका 12 महिलाओं का समूह है जो पंचगव्य के दिये बनाती हैं जिसके लिए उन्हें शासन से 15 हजार रुपये सहायता राशि मिली है। जागृति स्व सहायता समूह, पाटन की मनीषा चंद्राकर आज बिहान मेले छत्तीसगढ़ी व्यजंन जैसे गुझिया, राजगीर लड्डू, अनरसा, ठेठरी, खुर्मी, नारियल लड्डू का विक्रय कर रही है। गीतांजलि स्व सहायता समूह की महिलाएं रुई की बत्ती, मोमबत्ती, ग्लिसरीन युक्त एलोवीरा, चारकोल, नीम आदि के साबुन विक्रय कर रही है। सिद्धि स्व सहायता समूह बोरिगारका उतई की पुष्पा साहू फ्लोटिंग कैंडल, आचार, पापड़, बड़ी आदि का विक्रय कर रही हैं।