breaking news New

छत्तीसगढ़ के 16802 प्रेरक शिक्षकों पर मंडरा रहा आर्थिक संकट झूठे वादा कर कांग्रेस युवाओं को छल रही है- मूड़ामी

छत्तीसगढ़ के 16802 प्रेरक शिक्षकों पर मंडरा रहा आर्थिक संकट झूठे वादा कर कांग्रेस युवाओं को छल रही है- मूड़ामी


अनुसूचित जनजाति मोर्चा प्रदेश महामंत्री समर्थन देने धरना स्थल पहुंचे

दंतेवाड़ा, 17 मार्च। बेरोजगारों को रोजगार देना व अनियमित कर्मचारियों को नियमित करने का वादा करने वाली सरकार का चाल-चरित्र युवा  शक्ति को समझ मे आ चुका है। राज्य भर में 16802 प्रेरक शिक्षक आर्थिक संकट से जूझ रहा है। यह सरकार झूठे वादों का सब्जबाग तैयार कर सत्ता में आई। हर मोर्चे पर फेल साबित हो रही सरकार से अब युवा भी बुरी तरह से नाराज हो गया। बेरोजगार युवाओं को भी छलने में लगी है। ढाई साल पूरे हो चुके है और सरकार गहरी नींद में सो रही है । अनुसूचित जनजाति प्रदेश महामंत्री नंदलाल मुडामी ने अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठे प्रेरक शिक्षकों से मिलने के दौरान कही। अनुसूचित जनजाति मोर्चा प्रदेश महामंत्री नंदलाल मुडामी समर्थन देने धरना स्थल पहुंचे

कई दिनों से अनिश्चितता कालीन हड़ताल पर बैठे दंतेवाड़ा जिले के सैकड़ों और राज्य के लगभग  16800 से भी अधिक प्रेरक शिक्षक की रोजी रोटी का संकट पैदा हुआ है। कांग्रेस सत्ता के नशे में चूर है। छत्तीसगढ़ के युवाओं को कांग्रेस की सरकार छल रही है।

कांग्रेस सरकार बनने से पहले छत्तीसगढ़ की जनता व युवाओं को कई लोकलुभावने वादे किए गंगाजल की झूठी कसमे खाई।

छत्तीसगढ़ के 16800 से भी अधिक प्रेरक शिक्षक पूरे राज्य में नवनिहालो को शिक्षा की हलक जगा रहे थे। कांग्रेस के नेताओ ने सरकार बनते ही इन प्रेरकों को नियमित करने का वादा किया था। नियमित तो दूर की बात है सभी प्रेरक शिक्षक बेरोजगार होकर दर-दर भटक रहे हैं

बेरोजगारों को बेरोजगारी 2500 रु भत्ता देने जैसी अनगिनत झूठा वादा कर सरकार में 2.5 साल से असफल हो चुकी सरकार को छत्तीसगढ़ की जनता 2.5 बाद सबक सिखाएगी।